एसपी की गाड़ी में बैठ अपना दर्द भूली फरियादी वृद्धा, छलके आंसू
एसपी की गाड़ी में बैठ अपना दर्द भूली फरियादी वृद्धा, छलके आंसू
उत्तर-प्रदेश

एसपी की गाड़ी में बैठ अपना दर्द भूली फरियादी वृद्धा, छलके आंसू

news

कानपुर, 31 जुलाई (हि.स.)। बिकरु, संजीत और पिंटू सेंगर कांड से कानपुर पुलिस की जहां चारों तरफ किरकिरी हो रही है तो वहीं शुक्रवार को पुलिस का ऐसा मानवीय चेहरा भी देखने को मिला जो हर तरफ चर्चा का केन्द्र बन गया। हुआ यूं कि एसपी दक्षिण कार्यालय में एक वृद्ध महिला अपनी फरियाद लेकर पहुंची थी। कार्यालय से बाहर निकलते ही झमाझम बारिश होने लगी और वृद्धा परेशान हो गयी, वृद्धा की परेशानी भांप एसपी दक्षिण बाहर निकले और अपनी गाड़ी से उसे घर भिजवाया। गाड़ी में बैठते ही वृद्धा अपना दर्द भूल बैठी और उसके आंसू छलक पड़े। नौबस्ता थाना क्षेत्र के कर्रही गांव निवासी 70 वर्षीय बुजुर्ग महिला लक्ष्मी शुक्रवार को अपनी फरियाद लेकर एसपी दक्षिण कार्यालय पहुंची। कार्यालय में फरियादियों की भीड़ थी और महिला भी एक किनारे बैठ गयी, जब उसका नंबर आया तो एसपी दक्षिण बीएसजीटीएस मूर्ति से अपनी फरियाद बतायी और बाहर निकल आयी। इसी बीच मौसम का मिजाज बदला और झमाझम बारिश होने लगी। भारी बारिश को लेकर वृद्धा परेशान होने लगी और उसको घर जाने के लिए कोई साधन नहीं था। कार्यालय में अंदर से महिला को परेशान होता देख एसपी खुद बाहर निकले और अपनी गाड़ी बुलाई। महिला को कहा कि गाड़ी में बैठो, यह सुन वह हक्का बक्का रह गयी। एसपी ने दोबारा कहा कि माता जी आपको सिपाही घर तक छोड़कर आएंगे। एसपी की गाड़ी में बैठते ही वृद्धा के आंखों से अश्रु धारा बहने लगी और बार-बार एसपी दक्षिण को आर्शीवाद देने लगी। यही नहीं एसपी ने यह भी कहा कि आपकी फरियाद का जल्द से जल्द निस्तारण किया जाएगा। महिला ने कहा कि अब मुझे विश्वास है कि मेरी फरियाद सुनी जाएगी और कहा कि ऐसे ही अधिकारी हर जगह हो, जिससे गरीब और असहायों की भी सुनवाई हो सके। हिन्दुस्थान समाचार/अजय/दीपक-hindusthansamachar.in