एलईडी बल्ब के प्रयोग से उप्र में 27.59 लाख टन उत्सर्जन में आई कमी : श्रीकांत शर्मा
एलईडी बल्ब के प्रयोग से उप्र में 27.59 लाख टन उत्सर्जन में आई कमी : श्रीकांत शर्मा
उत्तर-प्रदेश

एलईडी बल्ब के प्रयोग से उप्र में 27.59 लाख टन उत्सर्जन में आई कमी : श्रीकांत शर्मा

news

-ऊर्जा संरक्षण दिवस पर ऊर्जा मंत्री यूपीनेडा के मुख्यालय के 40 किलोवाट के रूफटाप सौर ऊर्जा संयंत्र व यूपीसेब्स एनर्जी ऐप का किया लाेकार्पण लखनऊ, 14 दिसम्बर (हि.स.)। प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने सोमवार को कहा कि उजाला योजना से बिजली की खपत कम हुई है। एलईडी बल्ब के प्रयोग से उप्र में 27 लाख 59 हजार टन उत्सर्जन में कमी आई है। श्रीकांत शर्मा ने ऊर्जा संरक्षण दिवस पर उप्र नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा विकास अभिकरण (यूपीनेडा) मुख्यालय के 40 किलोवॉट के रूफटॉप सौर ऊर्जा संयंत्र व यूपीसेव्स एनर्जी ऐप का लोकार्पण किया। इस अवसर पर ऊर्जा मंत्री ने कहा कि प्लांट के लगने से इमारत बिजली की आवश्यकता के लिए आत्मनिर्भर बन गई है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में उजाला योजना के तहत अब तक 36 करोड़ 68 लाख एलईडी बल्ब बांटे गए। इससे सालाना 47,640 मिलियन यूनिट बिजली की बचत हो रही है। सालाना 19,056 करोड़ रुपये की बचत के साथ 9,538 मेगावाट मांग भी पीक आवर्स में कम हुई है। उन्होंने कहा कि उजाला योजना के तहत एलईडी बल्ब, ट्यूबलाइट और पंखे से बिजली की खपत कम हुई। अतिरिक्त बिजली से सस्ते में गरीब का घर रोशन हुआ। एलईडी बल्ब के प्रयोग से ही सालाना 3 करोड़ 85 लाख टन कार्बन डाई ऑक्साइड का उत्सर्जन कम हुआ है। यूपी में 27 लाख 59 हजार टन उत्सर्जन में कमी आई। हिन्दुस्थान समाचार/दीपक/संजय-hindusthansamachar.in

AD
AD