एक साथ दो घंटे में धुले गए हजारों हाथ, जनपद में मनाया गया ग्लोबल हैंड वॉशिंग डे
एक साथ दो घंटे में धुले गए हजारों हाथ, जनपद में मनाया गया ग्लोबल हैंड वॉशिंग डे
उत्तर-प्रदेश

एक साथ दो घंटे में धुले गए हजारों हाथ, जनपद में मनाया गया ग्लोबल हैंड वॉशिंग डे

news

- जलशक्ति मिशन के अंतर्गत स्वास्थ्य केन्द्रों पर लगेंगे नल झांसी, 15 अक्टूबर(हिं.स.)।एक साथ दो घंटे में धोए गए हजारों हाथ के मद्देनजर जनपद के सभी स्वास्थ्य केन्द्रों पर स्वास्थ्य कर्मियों व फ्रंटलाइन वर्करों ने हाथ धोकर इसके महत्व के प्रति जनजागरूकता में हिस्सा लिया। कार्यक्रम के अन्तर्गत मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. जी के निगम की अध्यक्षता में हाथ धोने की प्रक्रिया को अंजाम दिया गया। साथ ही वेबीनार के माध्यम से जनपद के सभी स्वास्थ्य केन्द्रों के कर्मियों से जुड़कर ग्लोबल हैंड वाॅशिंग डे मनाया गया। जूम कार्यशाला को संबोधित करते हुये मुख्य चिकित्साधिकारी ने कहा कि 10 बजे से 12 बजे तक सभी जगह लोगों ने एक साथ हाथ धुलकर एक संयुक्त संदेश प्रेषित किया है। इस प्रक्रिया के माध्यम से लोगों के व्यवहार परिवर्तन पर ध्यान दिया जा रहा है। कोविड के समय में हाथ धुलना हमारी जीवनशैली का एक बहुत अहम हिस्सा बन गया है। अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा. एन के जैन ने बताया कि वर्तमान में सामाजिक दूरी के साथ हाथ धुलना भी बहुत जरूरी है। हमारा उद्देश्य सिर्फ आज ही के दिन हाथ धुलने का नहीं है, बल्कि इसे व्यवहार में शामिल करना है। उन्होने बताया कि हाथ धुलना कोविड व अन्य बीमारियों से बचने का सबसे सरल, आसान और सस्ता तरीका है। क्वालिटी एश्योरेंस सलाहकार डा. मनीष खरे ने कार्यशाला में शामिल सभी प्रतिभागियों को हाथ धुलने के 6 चरणों के बारें में बताया। जलशक्ति मिशन के अंतर्गत स्वास्थ्य केन्द्रों पर लगेंगे नल कार्यशाला में स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी डा. विजयश्री शुक्ल ने बताया कि यूनिसेफ और डबल्यूएचओ के आंकड़े बताते है कि विश्व में 40 प्रतिशत घरों में, आधे स्कूल में और 43 प्रतिशत स्वास्थ्य केन्द्रों पर हाथ धुलने के लिए पानी और साबुन की व्यवस्था नहीं है। जनपद में जलशक्ति मिशन के माध्यम से सर्वप्रथम यह पता लगाया जाएगा कि कहाँ नल और पानी की व्यवस्था नहीं है फिर उसके बाद उन संबन्धित जगहों पर व्यवस्था की जाएगी। हिन्दुस्थान समाचार/महेश/मोहित-hindusthansamachar.in