उप्र में 19,104 जोखिम क्षेत्रों में 51,525 कोरोना संक्रमित मरीज
उप्र में 19,104 जोखिम क्षेत्रों में 51,525 कोरोना संक्रमित मरीज
उत्तर-प्रदेश

उप्र में 19,104 जोखिम क्षेत्रों में 51,525 कोरोना संक्रमित मरीज

news

लखनऊ, 17 सितम्बर (हि.स.)। प्रदेश में कोरोना की वर्तमान स्थिति के मद्देनजर अब जोखिम क्षेत्रों (कंटेनमेंट जोन) की संख्या 19,104 हो गई है। अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने गुरुवार को बताया कि 1,217 थानान्तर्गत, 15,29,710 मकानों के 84,99,260 लोगों को चिह्नित किया गया है। इन जोखिम क्षेत्र में कोरोना पाॅजिटिव लोगों की संख्या 51,525 है। इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन किये गये लोगों की संख्या 33,543 है। उन्होंने बताया कि इसके साथ ही गृह विभाग ने धारा-188 के तहत 2,26,450 एफआईआर दर्ज करते हुये 4,27,889 लोगों को नामजद किया है। प्रदेश में अब तक 1,55,70,115 वाहनों की सघन चेकिंग में 72,343 वाहन सीज किये गये। चेकिंग अभियान के दौरान 80,91,54,214 रुपये का शमन शुल्क वसूल किया गया। आवश्यक सेवाओं के लिए कुल 4,37,321 वाहनों के परमिट जारी किये गये हैं। कालाबाजारी एवं जमाखोरी करने वाले 1,242 लोगों के खिलाफ 919 एफआईआर दर्ज करते हुए 446 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में फेक न्यूज के तहत अब तक 2,576 मामलों को संज्ञान में लेते हुए कार्रवाई की गई है। आज फेसबुक के 07 व ट्विटर के 01 मामले को संज्ञान में लिया गये है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में हाॅटस्पाॅट वाले बस्तियों की अनुमानित जनसंख्या 85,68,418 के सापेक्ष 18,331 डोर स्टेप डिलिवरी मिल्क बूथ-मैन के द्वारा दूध वितरित किया गया है। डोर स्टेप डिलिवरी ‘फल, सब्जी आदि’ कुल 22,409 वाहन लगाये गये हैं। डोर स्टेप डिलिवरी वाले प्रोविजन स्टोर की संख्या 19,446 है। प्रोविजन स्टोर के माध्यम से डिलिवरी करने वालों की संख्या 18,535 है। हाॅट स्पाॅट क्षेत्रों में कुल 03 प्रचलित सामुदायिक किचन हैं। इन बस्तियों में 15,55,228 राशन कार्डो पर खाद्यान्न वितरण किया गया है। उन्होंने बताया कि निर्माण कार्यों से जुडे़ 18.25 लाख श्रमिकों, नगरीय क्षेत्र के 8.91 लाख श्रमिकों तथा ग्रामीण क्षेत्रों के 6.74 लाख निराश्रित व्यक्तियों को एक-एक हजार रुपये के आधार पर कुल 33.90 लाख लोगों को 339.05 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया है। निर्माण कार्यों से जुडे़ 17.14 लाख श्रमिकों को द्वितीय किश्त का भी भुगतान किया जा चुका है। प्रदेश की पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्यूपमेन्ट एवं मास्क सहित कुल 97 इकाईयां क्रियाशील हैं। प्रदेश में 1127 फ्लोर मिल, 503 तेल मिल एवं 357 दाल मिल संचालित की जा रही है। प्रदेश में कोरोना के सम्बंध में राहत आयुक्त कार्यालय में राज्य स्तर पर स्थापित एकीकृत आपदा नियंत्रण केन्द्र के टोल फ्री हेल्पलाईन नंम्बर 1070 पर प्राप्त 1,20,132 काॅल में से 1,19,749 का निस्तारण किया गया। उन्होंने बताया कि रोडवेज की 7342 बसों के माध्यम से 10,62,000 हजार लोगों ने यात्रा की। राजस्थान तथा हरियाणा से भी बसें चलाई जा रही हैं। पब्लिक एड्रेस सिस्टम को मजबूत किया जा रहा है। हिन्दुस्थान समाचार/संजय/राजेश-hindusthansamachar.in