उप्र: बीते चौबीस घंटे में कोरोना संक्रमण के 1,233 नये मामले, 16,378 सक्रिय मामले
उप्र: बीते चौबीस घंटे में कोरोना संक्रमण के 1,233 नये मामले, 16,378 सक्रिय मामले
उत्तर-प्रदेश

उप्र: बीते चौबीस घंटे में कोरोना संक्रमण के 1,233 नये मामले, 16,378 सक्रिय मामले

news

-मरीजों के तेजी से ठीक होने से रिकवरी दर बढ़कर हुई 95.74 प्रतिशत लखनऊ, 23 दिसम्बर (हि.स.)। प्रदेश में पिछले चौबीस घंटे में कोरोना संक्रमण के 1,233 नये मामले सामने आये हैं। इसके बाद अब एक्टिव मामलों की संख्या घटकर 16,378 हो गई है। इस तरह राज्य में 17 सितम्बर को कोरोना के उच्चतम स्तर पर पहुंचने के बाद 68,235 मामलों से यह 51,857 कम हो गई है। राज्य में संक्रमण का ग्राफ अब तेजी से नीचे जा रहा है। वहीं प्रदेश में कोविड-19 का रिकवरी प्रतिशत बढ़कर 95.74 हो गया है। अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बुधवार को बताया कि प्रदेश में अब तक कुल 2,28,32,382 सैम्पल की जांच की गयी है। प्रतिदिन होने वाली जांचों में 40 प्रतिशत से अधिक आरटीपीसीआर के जरिए की जा रही हैं। अब तक कुल 5,53,019 लोग कोविड-19 से ठीक होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि कुल एक्टिव मामले में से 7,215 लोग होम आइसोलेशन में हैं। वहीं निजी चिकित्सालयों में 1,774 लोग इलाज करा रहे हैं। इसके अतिरिक्त शेष मरीज एल-1, एल-2 तथा एल-3 के सरकारी अस्पतालों में भर्ती हैं। अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य ने बताया कि सर्विलांस का कार्य जारी है। प्रदेश में अब तक सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,77,068 क्षेत्रों में 4,93,650 टीम दिवस के माध्यम से 3,07,13,190 घरों के 14,95,65,296 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है। ई-संजीवनी से एक दिन में 4,572 लोगों ने लिया चिकित्सकीय परामर्श वहीं चिकित्सकीय उपचार के लिए ई-संजीवनी पोर्टल शुरू किया गया है। ई-संजीवनी के माध्यम से कल एक दिन में 4,572 लोगों ने चिकित्सकीय परामर्श लिया। इस प्रकार अब तक कुल तीन लाख से अधिक लोगों ने चिकित्सकीय परामर्श लिया। 'मेरा कोविड केंद्र' से अपनी करीबी सेंटर की जानकारी करें हासिल अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य ने कहा कि लोग हमारे ऐप 'मेरा कोविड केंद्र' को गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं। इससे उन्हें पता चलेगा कि कहां पर सरकार ने जांच केंद्र खोले हैं और उनके आस-पास कौन सा केंद्र है, जहां पर आप निशुल्क जांच करायी जा सकती है। उन्होंने कहा कि जांच होने के बाद किसी भी व्यक्ति को अपनी रिपोर्ट के लिए भाग-दौड़ नहीं करनी पड़ेगी। रिपोर्ट तैयार होने पर डीजीएमएचयूपी की वेबसाइट पर लैब रिपोर्ट के लिंक पर जाकर लोग अपनी कोरोना की रिपोर्ट घर बैठे हासिल कर सकते हैं। ब्रिटेस से आने वालों के लिए जांच कराना अनिवार्य उन्होंने कहा कि विदेश में कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन मिला है जो बहुत तेजी से फैल रहा है। इसके लिए जो भी व्यवस्था होनी है, ताकि अपने देश में वह ना आने पाए और अगर अगर किसी में आता है तो तत्काल नियंत्रित कर लिया जाए इसके लिए तमाम कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने कहा कि जो लोग 09 दिसम्बर के बाद ब्रिटेन से लौटकर आए हैं, वह अपनी जांच अवश्य करा लें और कम से कम एक हफ्ते से दस दिन तक एकांतवास (क्वारंटाइन) में रहें। अगर वह संक्रमित नहीं भी हैं तो भी एकांतवास में रहें। ब्रिटेन से आने वालों के लिए अपनी जांच कराना अनिवार्य है। वहीं जो लोग अन्य यूरोपीय देशों से आए हैं अगर उन्हें कोई लक्षण महसूस हो रहा हो तो वह भी अपनी जांच करा लें। हिन्दुस्थान समाचार/संजय-hindusthansamachar.in