उप्र: कोरोना के सक्रिय मामले घटकर हुए 35,263, रिकवरी दर लगभग 90.69 प्रतिशत
उप्र: कोरोना के सक्रिय मामले घटकर हुए 35,263, रिकवरी दर लगभग 90.69 प्रतिशत
उत्तर-प्रदेश

उप्र: कोरोना के सक्रिय मामले घटकर हुए 35,263, रिकवरी दर लगभग 90.69 प्रतिशत

news

-बीते चौबीस घंटे में 2,610 नए मामले आए सामने, 3,538 मरीज हुए स्वस्थ लखनऊ, 16 अक्टूबर (हि.स.)। प्रदेश में कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्या अब घटकर 35,263 हो गई है। एक्टिव मामलों में राज्य अब 31 जुलाई के स्तर पर आ गई है। 01 से 15 अक्टूबर के बीच रही पॉजिटिविटी की दर 2.2 प्रतिशत अपर मुख्य सचिव, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने शुक्रवार को बताया कि बीते चौबीस घंटे में संक्रमण के 2,610 नये मामले सामने आए हैं। इसी दौरान 3,538 मरीज स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज किए गए। इसके साथ ही राज्य में अब तक कुल 4,08,083 मरीज इलाज के बाद पूरी तरह स्वस्थ हो चुके हैं। मरीजों के तेजी से ठीक होने की वजह से रिकवरी दर अब लगभग 90.69 प्रतिशत हो गई है। वहीं राज्य में 01 से 15 अक्टूबर के बीच पॉजिटिविटी की दर 2.2 प्रतिशत रही है। राज्य में संक्रमित लोगों में से अब तक कुल 6,589 लोगों की मृत्यु हुई है। अब तक कुल 1.26 करोड़ कोरोना नमूनों की हुई जांच अपर मुख्य सचिव, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य ने बताया कि गुरुवार को प्रदेश में एक दिन में कुल 1,70,297 सैम्पल की जांच की गयी। वहीं प्रदेश में अब तक कुल 1,26,79,476 सैम्पल की जांच की गयी है। प्रदेश कुल टेस्टिंग में देश में प्रथम स्थान पर है। 16,369 मरीजों का होम आइसोलेशन में चल रहा इलाज उन्होंने बताया कि प्रदेश में वर्तमान में कुल सक्रिय मरीजों में से 16,369 लोग होम आइसोलेशन यानि घर पर रहकर इलाज की सुविधा का लाभ ले रहे हैं। इसके अलावा 2,994 मरीज निजी अस्पतालों व शेष राज्य सरकार की एल-1, एल-2 व एल-3 की व्यवस्था के तहत सरकारी अस्पतालों में भर्ती हैं। अब तक 2,49,788 मरीजों ने होम आइसोलेशन की सुविधा का विकल्प लिया है, जिनमें से 2,33,419 मरीजों के इलाज का समय पूरा होने के बाद उन्हें डिस्चार्ज घोषित कर दिया गया है। 13.40 करोड़ लोगों के बीच पहुंची स्वास्थ्य टीमें स्वास्थ्य विभाग की टीमें लगातार विभिन्न क्षेत्रों में लोगों के बीच पहुंचकर सर्वेश्रण कर रही हैं। अभी तक 1,41,278 इलाकों में 4,21,187 टीमों ने 2,71,76,991 करोड़ घरों का सर्वेक्षण किया है। इसके तहत 13,40,47,244 करोड़ से अधिक लोगों की मेडिकल स्क्रीनिंग की गई है। ई-संजीवनी के जरिए 1.42 लाख लोगों ने लिया परामर्श इसके साथ ही ई-संजीवनी पोर्टल का प्रदेश के लोग लगातार इस्तमाल कर रहे हैं। उत्तर प्रदेश में इस पोर्टल का सबसे ज्यादा दैनिक उपयोग किया जा रहा है। इस पोर्टल से घर बैठे डॉक्टरों से सलाह ले सकते हैं। गुरुवार को 2,660 लोगों ने इस सुविधा का लाभ उठाया। अब तक कुल 1,42,490 लोग इस पोर्टल के जरिए चिकित्सीय लाभ ले चुके हैं। बुजुर्गों में बढ़ता संक्रमण चिन्ता का विषय अपर मुख्य सचिव, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य ने बताया कि वहीं संक्रमण के कुल मामलों में 0-20 आयु वर्ग के 13.76 प्रतिशत, 21-40 आयु वर्ग के 47.61 प्रतिशत और 41-60 आयु वर्ग के 29.06 प्रतिशत और 60 से अधिक आयु के 9.57 प्रतिशत लोग संक्रमित हुए हैं। बुजुर्गों में संक्रमण निरन्तर थोड़ा-थोड़ा बढ़ रहा है। इसलिए उन्हें संक्रमण से बचाए रखने की जरूरत है। बुजुर्गों और पहले से किसी गम्भीर बीमारी से ग्रसित लोगों के प्रति सतर्कता बरतना बेहद जरूरी है। संक्रमण के बाद कुल मौतों में 60 से अधिक उम्र वाले लोगों का 45 प्रतिशत और 40 से 60 आयु वर्ग का लगभग 40 प्रतिशत है। कोविड हेल्प डेस्क से 8.86 लाख लक्षणात्मक लोगों की हुई पहचान प्रदेश में कुल 65,368 'कोविड हेल्प डेस्क' की स्थापना की जा चुकी है। इनके जरिए 8,86,619 लक्षणात्मक लोगों की पहचान की गई। इनमें ऑक्सीमीटर और थर्मामीटर उपलब्ध हैं। इन सभी इकाइयों में सैनिटाइजर की पर्याप्त उपलब्धता की गई है। हिन्दुस्थान समाचार/संजय-hindusthansamachar.in