इमर्जेंसी में मरीज की मौत के बाद आक्रोशित परिजनों ने काटा हंगामा
इमर्जेंसी में मरीज की मौत के बाद आक्रोशित परिजनों ने काटा हंगामा
उत्तर-प्रदेश

इमर्जेंसी में मरीज की मौत के बाद आक्रोशित परिजनों ने काटा हंगामा

news

मरीज को ऑक्सीजन का खाली सिलेंडर लगाने का आरोप फिरोजाबाद, 16 सितम्बर (हि.स.)। जिला अस्पताल के सरकारी ट्रामा सेन्टर की इमर्जेंसी में मंगलवार की देर रात एक मरीज की उपचार के दौरान मौत होने पर गुस्साये परिजनों ने जमकर हंगामा काटा। उन्होंने चिकित्सक व स्टॉफ पर मरीज को ऑक्सीजन का खाली सिलेंडर लगाने का आरोप लगाया है। थाना शिकोहाबाद क्षेत्र के 21/4 लेबर कालोनी निवासी विवेक यादव (26) पुत्र रविन्द्रनाथ यादव की दो तीन दिन पहले तबियत खराब हुई थी। परिजनों के अनुसार विवेक को किसी प्राइवेट अस्पताल में दिखाया था। जहां हालत में सुधार न होने पर परिजन मंगलवार की रात उसे जिला अस्पताल के सरकारी ट्रॉमा सेंटर की इमर्जेंसी लेकर आये थे। जहां चिकित्सक ने विवेक की हालत काफी नाजुक बताते हुए प्राथमिक उपचार देना शुरू कर दिया। बताया जाता है कि तभी अचानक उपचार के दौरान विवेक की मौत हो गई। जिसे चिकित्सक ने मृत घोषित कर दिया। आरोप है कि विवेक की मौत के बाद परिजन अपना आपा खो बैठे। आक्रोशित परिजनों ने चिकित्सक व स्टॉफ पर ऑक्सीजन का खाली सिलेंडर लगाने का आरोप लगाते हुए हंगामा काटना शुरू कर दिया। सूचना पर अस्पताल चौकी की पुलिस भी अस गयी लेकिन परिजनों ने पुलिस के सामने भी हंगामा किया। ड्यूटी पर तैनात चिकित्सक व स्टाफ के साथ अभद्रता कर दी। सूचना मिलते ही प्रभारी सीएमएस डॉ आलोक कुमार भी पहुंच गए। उन्होंने मीडिया को बताया कि प्राइवेट हॉस्पिटल में पहले तो ईलाज करते हैं फिर सही उपचार न देने पर बिना किसी जांच के परिजनों को डराते हुए कोरोना का भय दिखाकर सरकारी ट्रॉमा भेजते हैं। चिकित्सक फिर भी पूरी सेवा करते हैं अब मरीज नाजुक हालत में दम तोड़ दे तो चिकित्सक का क्या दोष, सही समय पर लाते तो ईलाज की कुछ और तस्वीर होती, चिकित्सक व स्टॉफ सेवा कर रहे हैं पर इस तरह जब चिकित्सक ही सुरक्षित नहीं रहेंगे तो फिर कैसे अपनी सेवाएं दे पाएंगे। उन्होंने बताया की चौकी पुलिस का बहुत सहयोग रहा है। जनता से अपील कि हमे सेवा का मौका दें इस तरह अभद्रता न करें। फिलहाल परिजन शव को बिना पोस्टमार्टम के घर ले जा रहे थे। बताया गया मृतक प्रोपर्टी का काम करता था। हिन्दुस्थान समाचार/कौशल/राजेश-hindusthansamachar.in