इंडो-उज्बेकिस्तान मिलकर करेंगे शैक्षणिक सहयोग का आदान प्रदान
इंडो-उज्बेकिस्तान मिलकर करेंगे शैक्षणिक सहयोग का आदान प्रदान
उत्तर-प्रदेश

इंडो-उज्बेकिस्तान मिलकर करेंगे शैक्षणिक सहयोग का आदान प्रदान

news

आईसीटी केन्द्र की होगी स्थापना, टास्क फोर्स गठित प्रयागराज, 14 अगस्त (हि.स)। भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान प्रयागराज तथा समरकंद राज्य विश्वविद्यालय उज्बेकिस्तान दोनों मिलकर अगले चार वर्ष तक आपस में शैक्षणिक सहयोग के आदान-प्रदान के लिए आगे आये हैं। दोनों संस्थानों ने शुक्रवार को एक समझौता पत्र पर हस्ताक्षर किये। यह जानकारी संस्थान के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी डॉ. पंकज मिश्र ने देते हुए बताया कि संस्थान की ओर से कुलसचिव प्रो. शिर्षू वर्मा तथा समरकंद राज्य विश्वविद्यालय उज्बेकिस्तान की तरफ से कुलपति प्रो. आर.आई खलमुरदोव ने हस्ताक्षर किये। इस दौरान संस्थान के निदेशक प्रो. पी.नागभूषण, डॉ. विजयश्री तिवारी अध्यक्ष प्रबंधन अध्यन विभाग उपस्थित रहे। सारी प्रक्रिया ऑनलाइन हुई। संस्थान के निदेशक प्रो. पी.नागभूषण ने बताया कि दोनों संस्थान शैक्षणिक ज्ञान का आदान-प्रदान करेंगे। दोनों संस्थान में एक दूसरे के यहां संकाय सदस्यों के आदान-प्रदान की सुविधा प्रदान करेंगे और अनुसंधान एवं शोधकार्य की गतिविधियों को साझा करेंगे। अनुसंधान परियोजनाओं और उनके संगठन की सुविधा प्रदान करेंगे जिसके अंतर्गत सेमिनार, कार्यशाला, सम्मेलनों का आयोजन किया जायेगा। उन्होंने बताया कि इंडो-उज्बेकिस्तान के बीच सूचना संचार प्रौद्योगिकी (आईसीटी) केन्द्र की स्थापना की जायेगी। संकाय सदस्यों द्वारा विषयों के पठन-पाठन के वार्षिक मूल्यांकन, एक दूसरे के यहां ठहरने की अवधि, शुल्क आदि को अलग से इस प्रारुप का निर्धारण किया जायेगा। जनसम्पर्क अधिकारी डॉ. मिश्र ने बताया कि इसी परिप्रेक्ष्य में समझौते के तत्काल बाद एक टास्क फोर्स कमेटी का गठन किया गया है, जो सूचना भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान प्रयागराज में इंडो-उज्बेक संचार प्रौद्योगिकी केन्द्र की स्थापना की जाएगी। टास्क फोर्स कमेटी में प्रो. शिर्षू वर्मा समन्वयक, डॉ. विजयश्री तिवारी सह समन्वयक, डॉ. प्रीतिश भरद्वाज, डॉ. माधवेन्द्र मिश्र, डॉ. वृजेन्द्र सिंह, डॉ. सुनील यादव, डॉ. उत्कर्ष गोयल, डॉ. रेखा वर्मा तथा अन्शू आनन्द सदस्य होगें। हिन्दुस्थान समाचार/विद्या कान्त-hindusthansamachar.in