आगरा के छत्रपति शिवाजी म्यूजियम में दिखेगी ब्रज संस्कृति की झलक
आगरा के छत्रपति शिवाजी म्यूजियम में दिखेगी ब्रज संस्कृति की झलक
उत्तर-प्रदेश

आगरा के छत्रपति शिवाजी म्यूजियम में दिखेगी ब्रज संस्कृति की झलक

news

-पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री ने प्रजेंटेशन के द्वारा देखी म्यूजियम के संचालन की व्यवस्था लखनऊ, 14 अक्टूबर (हि.स.)। उत्तर प्रदेश के आगरा में बन रहे छत्रपति शिवाजी महाराज संग्रहालय (म्यूजियम) में ब्रज संस्कृति की झलक देखने को मिलेगी। प्रदेश के पर्यटन, संस्कृति एवं धर्मार्थ कार्य मंत्री डा. नीलकंठ तिवारी ने बुधवार को म्यूजियम के संचालन एवं रख-रखाव को लेकर कंसल्टेंसी फर्म द्वारा तैयार किये गये प्रस्तुतीकरण का अवलोकन भी किया। इस प्रस्तुतीकरण में फर्म द्वारा अवगत कराया गया कि म्यूजियम में आठ गैलरियों का निर्माण किया गया है, जिसमें छत्रपति शिवाजी महाराज जी के जीवन काल से संबंधित घटनायें, ब्रज क्षेत्र, आगरा का इतिहास, गंगा जमुनी तहजीब, इण्डिया गैलरी, स्टेट गैलरी तथा सिटी गैलरी में चित्रण व वर्णन कर व्याख्या की जायेगी। गैलरियों में सोवेनियर शाॅप खान-पान, लोक-गीत, संस्कृति, चित्रकला, स्थानीय हस्तकला से सम्बन्धित चित्रकलायें भी प्रदर्शित की जायेंगी। इस दौरान मंत्री ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि म्यूजियम की गैलरियों में प्राचीन से अर्वाचीन आगरा के महत्वपूर्ण पर्यटन, ऐतिहासिक, धार्मिक तथा अध्यात्मिक स्थलों को भी प्रदर्शित किये जाएं। आगरा एवं ब्रज क्षेत्र के खान-पान, लोक-गीत, संस्कृति, चित्रकला, स्थानीय हस्तकला के प्रदर्शन के बारे में भी उन्होंने अधिकारियों से कहा। म्यूजियम की भव्यता एवं उसके सौन्दर्य को बढ़ाने के लिए उन्होंने संग्रहालय के प्रवेश द्वार पर छत्रपति शिवाजी महाराज जी की अश्वारोही भव्य प्रतिमा स्थापित किये जाने हेतु भी निर्देशित किया। पर्यटन मंत्री ने रोजगार सृजन हेतु संग्रहालय का बिजनेस प्लान भी बनाये जाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि इससे आने वाले समय में आगरा में पर्यटन उद्योग को बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने बताया कि संग्राहलय के शैक्षणिक दृष्टिकोण से प्रचार-प्रसार किये जाने हेतु राजकीय स्कूलों व विश्वविद्यालयों से समन्वय स्थापित करते हुए भविष्य में छात्र-छात्राओं को ब्रज व आगरा के इतिहास से अवगत कराया जायेगा। मंत्री ने बताया कि जनपद आगरा पर्यटन की दृष्टि से महत्वपूर्ण स्थल है तथा ऐतिहासिक गतिविधियों का केन्द्र रहा है, जिसमें छत्रपति शिवाजी महराज से सम्बन्धित कई महत्वपूर्ण घटनायें प्रचलित हैं। उन्होंने बताया कि आगरा के फतेहाबाद मार्ग पर लगभग 190 करोड़ रुपये की लागत से छत्रपति शिवाजी महाराज संग्रहालय का निर्माण पर्यटन विभाग द्वारा कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस संग्रहालय से आगरा में आने वाले पर्यटकों की संख्या में वृद्धि होगी एवं पर्यटन उद्योग को प्रोत्साहन मिलेगा। आज के प्रस्तुतीकरण में मुकेश कुमार मेश्राम प्रमुख सचिव पर्यटन, एनजी रवि कुमार सचिव व महानिदेशक पर्यटन, शिवपाल सिंह विशेष सचिव व प्रबन्ध निदेशक उप्र राज्य पर्यटन विकास निगम, कंसल्टेंसी फर्म मेसर्स आर्केंप प्रा.लि. के प्रतिनिधि एवं अन्य विभागीय अधिकारीगण उपस्थित रहे। हिन्दुस्थान समाचार/पीएन द्विवेदी-hindusthansamachar.in