अयोध्या भूमि पूजन में राष्ट्रपति को न बुलाये जाने पर संजय सिंह ने उठाए सवाल
अयोध्या भूमि पूजन में राष्ट्रपति को न बुलाये जाने पर संजय सिंह ने उठाए सवाल
उत्तर-प्रदेश

अयोध्या भूमि पूजन में राष्ट्रपति को न बुलाये जाने पर संजय सिंह ने उठाए सवाल

news

सुल्तानपुर, 08 अगस्त ( हि.स.)। आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता एवं राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने भूमि पूजन कार्यक्रम पर सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने कहा कि दलित के नाम पर राम नाथ कोविन्द को राष्ट्रपति बनाया गया किंतु जब मंदिर में भूमि पूजन की बात आई तो दलित की उपेक्षा कर प्रधानमंत्री को बुलाया गया। इस पूजन में कल्याण सिंह, उमा भारती जैसे अनेक आंदोलनकारी नेताओं की भी उपेक्षा की गयी। श्री सिंह ने अपने गृह जिले के गभडिया स्थित निवास पर शनिवार को पत्रकारों से बातचीत में कहा कि पांच अगस्त को अयोध्या में संपन्न भूमि पूजन कार्यक्रम में कई लोगों की उपेक्षा की गई। प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को पीछे और उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा को आगे बैठा कर श्री मौर्य को उपेछित किया गया। इसी तरह चुनाव था तो दलित के नाम पर राम नाथ कोविन्द को राष्ट्रपति बनाया गया किंतु जब मंदिर में भूमि पूजन की बात आई तो दलित की उपेक्षा कर प्रधानमंत्री को बुलाया गया। इस पूजन में कल्याण सिंह, उमा भारती जैसे अनेक आंदोलनकारी नेताओं की भी उपेक्षा की गई। एक सवाल पर उन्होंने कहा कि राम मंदिर मुद्दे पर संविधान के तहत सर्वोच्च न्यायालय का जो भी निर्णय है, उसे सभी को मानना ही चाहिए। उनका कहना है कि भारतीय जनता पार्टी का श्रीराम जन्मभूमि मंदिर से कोई लेना-देना नहीं है। वह सिर्फ मंदिर के नाम पर राजनीति कर रही है। हिन्दुस्थान समाचार/दयाशंकर/उपेन्द्र-hindusthansamachar.in