अयोध्या : दीपोत्सव के तीन दिवसीय कार्यक्रम निरस्त,  केवल 13 नवम्बर को ही होगा समारोह
अयोध्या : दीपोत्सव के तीन दिवसीय कार्यक्रम निरस्त, केवल 13 नवम्बर को ही होगा समारोह
उत्तर-प्रदेश

अयोध्या : दीपोत्सव के तीन दिवसीय कार्यक्रम निरस्त, केवल 13 नवम्बर को ही होगा समारोह

news

- कोविड-19 प्रोटोकॉल के कारण लिया गया फैसला अयोध्या,11 नवम्बर (हि.स.) । राम नगरी में श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य मंदिर निर्माण के साथ मनाई जा रही प्रदेश के योगी आदित्यनाथ सरकार की चौथी दीपावली के तीन दिवसीय समारोह को अब मुख्य दिवस 13 नवम्बर को ही पूर्ण रूप से मनाया जाएगा। कोविड-19 प्रोटोकॉल के कारण यह फैसला लिया गया है। बुधवार से तीन दिवस तक दीपावली समारोह मनाए जाने की तैयारी जोर-शोर पर थी। अब सिर्फ एक दिन का आयोजन किया जाएगा। इस दौरान 13 नवम्बर को ही साकेत महाविद्यालय से निकलने वाली शोभायात्रा, राम कथा पार्क में राज्याभिषेक और राम की पैड़ी पर 5.50 लाख दीप के साथ श्री राम जन्मभूमि में 11000 दीप जलाए जाएंगे। एक दिन का होगा दीपोत्सव तैयारी पूरी राम नगरी में भव्य रूप से मनाई जा रही दीपावली के चौथे दीपोत्सव की तैयारी को पूरा कर दुल्हन जैसा सजा दिया गया है। दीपावली कार्यक्रम में पहले 11 से 13 नवम्बर तक तीन दिवसीय आयोजन के पहले दिन भजन संध्या स्थल पर दिल्ली की रामलीला और दूसरे दिन छत्तीसगढ़ के 30 सदस्य महिलाओं की रामलीला का आयोजन किया जाना था। लेकिन कोविड-19 प्रोटोकॉल के तहत इन दोनों आयोजनों को निरस्त कर दिया गया है। अब 13 नवम्बर को ही सभी आयोजन को पूर्ण किया जाएगा। खास लोग ही पहुंचेंगे दीपावली में राम नगरी में भव्य रूप से मनाई जा रही दीपावली में प्रशासन ने सीमित लोगों को ही शामिल होने की अनुमति दी गई है। जिला प्रशासन इस कार्यक्रम में आने वाले आगंतुकों की कोरोना जांच भी कराएगा। इस बार नहीं होगी रामलीला तीन दिवसीय आयोजन में 11 व 12 नवम्बर को भजन संध्या स्थल पर होने वाली रामलीला के आयोजन को निरस्त कर दिया है। अब सिर्फ 13 नवम्बर को भी दीपोत्सव का आयोजन किया जाएगा। इस दौरान राम कथा पार्क में सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजन होगा। पुष्पक विमान से पहुंचेंगे भगवान राम व सीता दीपावली समारोह के मुख्य दिवस 13 नवम्बर को होने वाले आयोजनों में सुबह 12:00 बजे साकेत महाविद्यालय के प्रांगण से रामायण के प्रसंगों पर तैयार 11 झांकियां व 300 कलाकारों के द्वारा फोक डांस के साथ राम कथा पार्क तक जाएगी जिसके बाद राम कथा पार्क पर भगवान श्रीराम, माता सीता और लक्ष्मण विमान से सरयू तट पहुंचेंगे। यहां पर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अगवानी करेंगे। उसके बाद राम कथा पार्क पर भगवान श्री राम का राज्याभिषेक का आयोजन होगा और पूरी अयोध्या को प्रकाशमय किए जाने के लिए राम की पैड़ी पर 5.50 लाख दीप जलाए जाएंगे। पांच दशक बाद होगा राम जन्मभूमि में होगा भव्य दीपोत्सव श्री राम जन्मभूमि पर हो रहे भव्य मंदिर निर्माण प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पांच दशक बाद 11000 दीपों से दीपोत्सव मनाएंगे जिसकी विशेष तैयारियां जोर शोर से की गई हैं। पूरे नगर को सजा दिया गया अब केवल एक ही दिन ही कार्यक्रम आयोजित होगा। हिन्दुस्थान समाचार/ पवन पाण्डेय/रामानुज-hindusthansamachar.in