अब महाविद्यालयों एनओसी व सम्बद्धता प्राप्त करने की प्रक्रिया हुई ऑनलाइन
अब महाविद्यालयों एनओसी व सम्बद्धता प्राप्त करने की प्रक्रिया हुई ऑनलाइन
उत्तर-प्रदेश

अब महाविद्यालयों एनओसी व सम्बद्धता प्राप्त करने की प्रक्रिया हुई ऑनलाइन

news

लखनऊ, 23 दिसम्बर (हि.स.)। उच्च शिक्षा विभाग में प्रक्रिया को सरल एवं पूर्ण पारदर्शी रूप से लागू किये जाने के उद्देश्य से प्रदेश में नये महाविद्यालयों के लिए एवं पूर्व से संचालित महाविद्यालयों में नये पाठ्यक्रम प्रारम्भ करने के लिए विश्वविद्यालय से एनओसी एवं सम्बद्धता प्राप्त करने की प्रक्रिया को ऑनलाइन कर दिया गया है। यह संबंद्धता सत्र 2021-22 से ऑनलाइन ही प्रदान की जाएगी। इस संबंध में उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने बताया कि पहले यह ऑफलाइन प्रक्रिया से किया जाता रहा है। इसमें समय भी लगता था और पारदर्शिता पर भी सवाल उठते थे। अब इस प्रक्रिया के ऑनलाइन होने से समयबद्ध ढंग से काम हो सकेगा। भूमि के संबंध में अभिलेखों की सत्यापन की आख्या, निरीक्षण आख्या पोर्टल् पर ऑनलाइन ही प्रेषित की जाएगी। डॉ. दिनेश शर्मा ने बताया कि अल्पसंख्यक शिक्षण संस्था की स्थापना के लिए एनओसी प्राप्त करने की प्रक्रिया को सरल और पारदर्शी बनाते हुए ऑनलाइन कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि अनापत्ति एवं सम्बद्धता प्रस्तावों के आनलाइन निस्तारण के लिए समय-सारिणी भी निर्धारित कर दी गयी है। पाठ्यक्रमों के लिए प्रस्ताव आन लाइन जमा करने के लिए 31 दिसम्बर तथा सम्बद्धता के लिए अंतिम तिथि 15 अप्रैल निर्धारित की गयी है। शैक्षिक सत्र 2022-23 के लिए दो चक्रों में संबंद्धता की कार्रवाई विश्वविद्यालय द्वारा की जाएगी। इसके अनुसार प्रथम चक्र में नये पाठ्यक्रमों के लिए प्रस्ताव जमा करने की अंतिम तिथि 31 अक्टूबर और विश्वविद्यालय द्वारा सम्बद्धता प्रदान करने की अंतिम तिथि 28 फरवरी निर्धारित की गयी है। दूसरे चक्र के लिए ये तिथि क्रमश: 31 दिसम्बर व 15 अप्रैल निर्धारित है।लखनऊ, 23 दिसम्बर (हि.स.)। उच्च शिक्षा विभाग में प्रक्रिया को सरल एवं पूर्ण पारदर्शी रूप से लागू किये जाने के उद्देश्य से प्रदेश में नये महाविद्यालयों के लिए एवं पूर्व से संचालित महाविद्यालयों में नये पाठ्यक्रम प्रारम्भ करने के लिए विश्वविद्यालय से एनओसी एवं सम्बद्धता प्राप्त करने की प्रक्रिया को आनलाइन कर दिया गया है। यह संबंद्धता सत्र 2021-22 से ऑनलाइन ही प्रदान की जाएगी। इस संबंध में उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने बताया कि पहले यह ऑफलाइन प्रक्रिया से किया जाता रहा है। इसमें समय भी लगता था और पारदर्शिता पर भी सवाल उठते थे। अब इस प्रक्रिया के ऑनलाइन होने से समयबद्ध ढंग से काम हो सकेगा। भूमि के संबंध में अभिलेखों की सत्यापन की आख्या, निरीक्षण आख्या पोर्टल् पर ऑनलाइन ही प्रेषित की जाएगी। डॉ. दिनेश शर्मा ने बताया कि अल्पसंख्यक शिक्षण संस्था की स्थापना के लिए एनओसी प्राप्त करने की प्रक्रिया को सरल और पारदर्शी बनाते हुए ऑनलाइन कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि अनापत्ति एवं सम्बद्धता प्रस्तावों के ऑनलाइन निस्तारण के लिए समय-सारिणी भी निर्धारित कर दी गयी है। पाठ्यक्रमों के लिए प्रस्ताव ऑनलाइन जमा करने के लिए 31 दिसम्बर तथा सम्बद्धता के लिए अंतिम तिथि 15 अप्रैल निर्धारित की गयी है। शैक्षिक सत्र 2022-23 के लिए दो चक्रों में संबंद्धता की कार्रवाई विश्वविद्यालय द्वारा की जाएगी। इसके अनुसार प्रथम चक्र में नये पाठ्यक्रमों के लिए प्रस्ताव जमा करने की अंतिम तिथि 31 अक्टूबर और विश्वविद्यालय द्वारा सम्बद्धता प्रदान करने की अंतिम तिथि 28 फरवरी निर्धारित की गयी है। दूसरे चक्र के लिए ये तिथि क्रमश: 31 दिसम्बर व 15 अप्रैल निर्धारित है। हिन्दुस्थान समाचार/उपेन्द्र/संजय-hindusthansamachar.in