दक्षिण सिक्किम के नागी जंगल में भीषण आगजनी

दक्षिण सिक्किम के नागी जंगल में भीषण आगजनी
fierce-arson-in-nagi-forest-of-south-sikkim

गंगटोक, 06 अप्रैल (हि.स.)। दक्षिण सिक्किम के नामथांग रातेपानी निर्वाचन क्षेत्र अंतर्गत तिंगले स्थित स्थानीय नागी जंगल में भीषण आगजनी हुई है। आगजनी के कारण जंगल के पेड़ और पौधे नष्ट हो गए हैं। आगजनी से वन्य जंतुओं को भी नुकसान पहुंचा है। नागी के जंगलों में कल से आगजनी हो रही थी। लेकिन, आज आगजनी ने भयावह रूप ले लिया। आग पूरे जंगल में फैल गई और अनियंत्रित हो गई। आगजनी के कारण नागी के एक स्थानीय बौद्ध गुंपा को भी नुकसान पहुंचे की स्थिति उत्पन्न हो गई है। हालांकि, जिला प्रशासन कल से ही आग पर काबू पाने की कोशिश कर रहा है। वहीं, स्थानीय लोग भी अपने स्तर पर आग को बुझाने का प्रयास कर रहे हैं। आज दक्षिण सिक्किम के नामची और रावांगला की फायर ब्रिगेड घटनास्थल पर पहुंची और आग को बुझाने का काम किया। फायर ब्रिगेड और वन विभाग के कर्मियों की सक्रियता के कारण क्षेत्र में बड़ी क्षति को रोका गया। हालांकि, अभी भी आग पर पूरी तरह से काबू नहीं पाया जा सका है। नामथांग रातेपानी निर्वाचन क्षेत्र के विधायक तथा राज्य यातायात विभाग के मंत्री संजीत खरेल हाल गुजरात दौरे पर हैं। उन्होंने आगजनी प्रभावित गांव के लोगों को धैर्य रखने और आतंकित न बनने का आह्वान किया है। उन्होंने कहा है कि वह जिला प्रशासन और संबंधित लोगों के लगातार संपर्क में हैं और स्थिति पर नजर बनाए हुए है। उन्होंने लोगों को आश्वस्त किया कि आगजनी को नियंत्रित करने के लिए सरकार हर संभव कोशिश करेगी। उन्होंने कहा कि आगजनी के कारणों का पता लगाने के लिए छानबीन जारी है। हिन्दुस्थान समाचार/बिशाल