webcasting-booth-capturing-and-unauthorized-entry-will-be-closely-monitored-at-sensitive-polling-stations
webcasting-booth-capturing-and-unauthorized-entry-will-be-closely-monitored-at-sensitive-polling-stations
राजस्थान

संवेदनशील मतदान केंद्रों पर होगी वेबकास्टिंग, बूथ कैप्चरिंग व अनाधिकृत प्रवेश पर रहेगी कड़ी नजर

news

जयपुर, 05 अप्रैल (हि. स.)। विधानसभा उप चुनाव के दौरान 10 फीसदी मतदान केन्द्रों पर बलवा, बूथ कैप्चरिंग, अनाधिकृत प्रवेश करने सहित अन्य अवांछनीय गतिविधियों की रोकथाम के लिए वेबकास्टिंग तकनीक का इस्तेमाल किया जाएगा। मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने बताया कि तीनों विधानसभाओं में कुल 1145 मतदान केंद्र स्थापित किए गए हैं। इनमें से 100 संवेदनशील मतदान केंद्रों पर वेब कैमरों के जरिए नजर रखी जाएगी। उन्होंने बताया कि भीलवाड़ा जिले की सहाड़ा विधानसभा के 39, राजसमंद के 35 और चूरू जिले के सुजानगढ़ विधानसभा क्षेत्र में 26 मतदान केंद्रों पर इस तकनीक के जरिए निगरानी की जाएगी। उन्होंने कहा कि विभाग तीनों विधानसभा में स्वतंत्र-निष्पक्ष और शांतिपूर्ण मतदान कराने के लिए संकल्पबद्ध है। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि मतदान केन्द्रों में लगे वेब कैमरों से प्राप्त सूचना पर संभावित वारदातों पर त्वरित प्रभावी एक्शन के लिए जिला स्तर पर सभी तकनीकी सुविधाओं से युक्त नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है। राज्य स्तर पर मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय से भी इसकी निरंतर मॉनिटरिंग की जाएगी। साथ ही भारत निर्वाचन आयोग द्वारा भी इसे देखा जा सकता है। वेब कैमरों के संस्थापन में भी इस बात पर विशेष ध्यान रखा जाएगा कि मतदान की गोपनीयता प्रभावित हुए बिना कक्ष के अन्दर प्रवेश से लेकर मतदाता के बाहर निकलने तक की प्रत्येक गतिविधि रिकॉर्ड की जा सके। गुप्ता ने बताया कि मतदान दिवस पर इस तकनीक से असामाजिक तत्वों पर तो नियंत्रण रखा ही जा सकेगा, साथ ही चुनाव कार्य में लगे कार्मिकों की गतिविधियों, निष्पक्षता, मतदान कक्ष की आन्तरिक गतिविधियों आदि पर भी निगाह रखी जा सकेगी। वेब कास्टिंग में वीडियो के साथ वहां हो रहे ऑडियो को भी सुना जा सकता है। हिन्दुस्थान समाचार/रोहित/संंदीप