voters-should-become-aware-and-choose-public-representatives-to-take-them-on-the-path-of-development---governor
voters-should-become-aware-and-choose-public-representatives-to-take-them-on-the-path-of-development---governor
राजस्थान

मतदाता जागरूक बनें और विकास के पथ पर ले जाने वाले जनप्रतिनिधि चुनें- राज्यपाल

news

जयपुर, 25 जनवरी (हि.स.)। राज्यपाल कलराज मिश्र ने मतदाताओं का आह्वान किया है कि लोकतंत्र में एक-एक मत का महत्व होता है। ऐसे में प्रत्येक मतदाता का कत्र्तव्य है कि वह जागरूक बने और सोच समझकर मतदान करते हुए ऐसे जनप्रतिनिधि चुने जो विकास और तरक्की का पथ प्रशस्त कर सकें। मिश्र सोमवार को यहां राजभवन से ग्यारहवें राष्ट्रीय मतदाता दिवस के राज्यस्तरीय समारोह में आनलाइन संबोधित कर रहे थे। उन्होंने इस अवसर पर कहा कि स्वस्थ लोकतंत्र के निर्माण और उसकी मजबूती के लिए प्रत्येक मतदाता की निर्वाचन प्रक्रिया में भागीदारी आवश्यक है। राज्यपाल ने कहा कि राष्ट्रीय मतदाता दिवस का आयोजन इस बात की याद दिलाता है कि भारत के लोग ही वह शक्ति हैै जो संविधान को शक्ति प्रदान करते है। उन्होंने कहा कि राजनीतिक दलों, उम्मीदवारों और नागरिकों के लिए भारत निर्वाचन आयोग द्वारा पोर्टल एवं मोबाईल एप के माध्यम से निर्वाचन प्रक्रिया सुगम बनाने के लिए उल्लेखनीय पहल की गई है। उन्होंने आह्वान किया कि इस जन उपयोगी तकनीक तथा मोबाईल एप की जानकारी साक्षरता क्लबों के माध्यम से अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाई जाए ताकि त्रुटि रहित मतदाता सूचियां तैयार हो सके और मतदान प्रक्रिया में मतदाताओं की अधिकतम भागीदारी सुनिश्चित हो सके। कार्यक्रम में भारत के मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुनील अरोड़ा का राष्ट्रीय मतदाता दिवस के अवसर पर देश की जनता के नाम संदेश का वीडियो द्वारा प्रसारण किया गया। राज्य निर्वाचन आयोग के आयुक्त प्रेम सिंह मेहरा ने कहा कि कोरोना वैश्विक महामारी के दौर में बीते एक वर्ष में भारत सरकार तथा राज्य सरकार द्वारा निर्धारित गाइडलाइन एवं प्रोटोकाॅल की पूर्ण पालना करते हुए मतदान प्रक्रिया का चुनौती पूर्ण कार्य सफलता पूर्वक सम्पन्न करवाने के लिए निर्वाचन प्रक्रिया से जुड़ी सम्पूर्ण मशीनरी बधाई की पात्र है। उन्होंने कहा कि 2011 में राष्ट्रीय मतदाता दिवस की शुरूआत और व्यापक स्तर पर स्वीप गतिविधियों के आयोजन के कारण मतदाता अब पहले की अपेक्षा अधिक जागरूक, सजग एवं सतर्क हुए हैं। मुख्य सचिव निरंजन आर्य ने कहा कि सभी मतदाता अपने विवेक का प्रयोग करते हुए जागरूक होकर सुरक्षित महसूस करते हुए मतदान कर सकें यही लोकतंत्र की सफलता की सच्ची कसौटी है। इस अवसर पर राज्यपाल कलराज मिश्र, राज्य निर्वाचन आयुक्त प्रेम सिंह मेहरा एवं मुख्य सचिव निरंजन आर्य के ई-इपिक कार्ड जारी कर प्रदेश में ई-इपिक का शुभारम्भ किया गया। राज्यपाल ने राष्ट्रीय मतदाता दिवस 2021 के पोस्टर ‘हम हैं-सशक्त, सतर्क, सुरक्षित एवं जागरूक‘ का विमोचन किया एवं मतदाता शपथ भी दिलवाई। कार्यक्रम के आरम्भ में राज्यपाल मिश्र ने संविधान की उद्देश्यिका तथा मूल कत्र्तव्यों का वाचन भी करवाया। कार्यक्रम में निर्वाचन विभाग के ब्रांड एंबेसेडर पैरा ओलंपिक विजेता देवेन्द्र झांझडिया ने हेलो वोटर्स वेब रेडियो के लिए शुभकामनाएं दीं। राष्ट्रीय मतदाता दिवस राज्यस्तरीय समारोह के दौरान राज्यपाल के सचिव सुबीर कुमार, प्रमुख विशेषाधिकारी गोविन्दराम जायसवाल सहित सचिवालय एवं जिलास्तरीय मुख्यालयों से अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे। इन अधिकारी-कर्मचारियों को मिला सम्मान राष्ट्रीय मतदाता दिवस के उपलक्ष्य में राज्य के विभिन्न जिलों में उत्कृष्ट कार्य करने वाले अधिकारियों, कर्मचारियों को और राज्यपाल की ओर से राज्यस्तरीय सम्मान से सम्मानित किया गया। इसके अंतर्गत विश्राम मीणा, जिला निर्वाचन अधिकारी (कलेक्टर), बाड़मेर, डॉ. जितेन्द्र कुमार सोनी, जिला निर्वाचन अधिकारी (कलेक्टर), नागौर, नमित मेहता, जिला निर्वाचन अधिकारी (कलेक्टर), बीकानेर, भगवती प्रसाद कलाल, जिला निर्वाचन अधिकारी (कलेक्टर), सिरोही, सुरेश कुमार ओला, जिला निर्वाचन अधिकारी (कलेक्टर), डूंगरपुर, कैलाश चन्द्र शर्मा, उप जिला निर्वाचन अधिकारी (एडीएम), अजमेर, नरेश बुनकर, उप जिला निर्वाचन अधिकारी (एडीएम), बांसवाड़ा, बीना महावर, उप जिला निर्वाचन अधिकारी (एडीएम), भरतपुर को सम्मानित किया गया। इसके साथ-साथ घनश्याम शर्मा, निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी (एसडीएम), बदनौर (भीलवाड़ा) तत्कालीन निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी (एसडीएम), सांगानेर (जयपुर) एवं राकेश कुमार-2, निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी (एसडीएम), खण्डेला (सीकर) को भी जयपुर में राज्य स्तरीय कार्यक्रम में सम्मानित किया गया। हिन्दुस्थान समाचार/ ईश्वर/संदीप-hindusthansamachar.in