संजीवनी भरा क आपदा से निपटने के लिए अमेरिका इंडिया फाउंडेशन-ग्लोबल संस्थाओं से पहुंचा रहा है मदद
us-is-providing-help-from-india-foundation-global-institutions-to-tackle-sanjeevani-filled-disaster

संजीवनी भरा क आपदा से निपटने के लिए अमेरिका इंडिया फाउंडेशन-ग्लोबल संस्थाओं से पहुंचा रहा है मदद

जयपुर, 22 मई (हि.स.)। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस की दूसरी लहर बड़ी संख्या में लोगों को संक्रमित कर रही है। ऐसे में राजस्थान सरकार द्वारा स्थापित अनिवासी राजस्थानी समुदाय और उनके मूल राज्य के बीच बंधन को मजबूत करने की दिशा में महान काम करने वाला राजस्थान फाउण्डेशन भी कोविड-19 महामारी के बीच कोरोना मरीजों के उपचार के लिए संजीवनी का काम कर रहा है। फाउण्डेशन के कमिश्नर धीरज श्रीवास्तव ने शनिवार को ऑनलाइन वर्चुअल बताया कि सीएम अशोक गहलोत के निर्देश पर देश के विभिन्न राज्यों में मदद पहुंचाने का काम करने वाली अमेरिका इंडिया फाउण्डेशन, स्वस्थ एसीटी व अन्य ग्लोबल संस्थाएं द्वारा महत्वपूर्ण स्थानों पर प्रवासी राजस्थानी और उनके माध्यम से इन ग्लोबल ऑर्गेनाइजेशन द्वारा एकत्रित की जा रही मदद में से राज्य का शेयर सुनिश्चित करने के लिए फाण्उडेशन और प्रवासी राजस्थानी मिलकर काम कर हैं। जिसके फलस्वरुप अमेरिका इंडिया फाउण्डेशन से 6000 सिंगल यूज वेंटीलेटर, पीएसए प्लांट, 150 कंसंट्रेटर्स, 2500 कंसंट्रेटर्स, स्वस्थ एसीटी द्वारा 1350 जा चुके हैं। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा लिए गए निर्णय कि राज्य के गांव-गांव, ढाणी-ढाणी तक हेल्थ केयर सिस्टम को मजबूत किया जाएगा, उसी कड़ी में कंसंट्रेटर्स आ रहे है और सीधा सीएचसी, पीएचसी पर ही पहुंचाए जा रहे हैं। साथ ही राज्य के 33 जिलों के निचले से निचले स्तर पर दूरदराज के क्षेत्रों में जहां झालावाड़ से लेकर अलवर, धौलपुर से लेकर बाड़मेर तक चारों दिशाओं में गांव-गांव तक पहुंच चुके हैं और आने वाले समय में ये सिलसिला लगातार जारी रहेगा। श्रीवास्तव ने बताया कि मिडिल इस्ट के प्रवासी बड़ी संख्या में इस आपदा में मदद के लिए सामने आए हैं और उनके माध्यम से नाथद्वारा टेम्पल बोर्ड ने भी सहयोग प्रदान किया है और 325 कंसंट्रेटर दिल्ली पहुंच चुके है। जहां-जहां सरकार को जरुरत होगी वहां तय करके भेज दिए जाएंगे। दुबई से मंगवाकर चारों दिशाओं में भेज रहे ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स, वेंटीलेटर्स राजस्थान फाउण्डेशन के आयुक्त धीरज श्रीवास्तव ने बताया कि प्रवासी राजस्थानियों की मदद से फाउण्डेशन ने दुबई से 1325 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स मंगवाकर राज्य के जिलों में भेजे गए है और 1000 अभी आने शेष हैं और आते ही वे भी जरुरत के मुताबिक जिलों में भेज दिए जाएंगे। साथ ही दुबई से ही ऑक्सीजन टैंकर, सिंगल यूज वेंटीलेटर्स और मॉनिटर भी मंगवाए है। प्रदेश के जिलों में कोर्डिनेट करके और जहां-जहां भी इनकी जरुरत होगी वहां राज्य के जिलों की पीएचसी, सीएचसी, अस्पतालों में उपलब्ध कराए जाएंगे। ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स, ऑक्सीजन टैंकर के पहुंच जाने से मरीजों के लिए यह एक संजीवनीभरा काम होगा। श्रीवास्तव के अनुसार प्रवासी राजस्थानी जो देश के बाहर रहते हैं लेकिन राजस्थान उनके दिलों और भावनाओं में हमेशा बना रहता है, राजस्थान के प्रति उनके गहरे लगाव ने जमीन और उसके लोगों के बीच के बंधन को आज भी मजबूत कर रखा है। श्रीवास्तव ने बताया कि फाउण्डेशन पहले भी बीते वर्ष-2020 कोरोना आपदा में प्रवासी राजस्थानियों को उनके घर तक पहुंचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा चुका है। न केवल देश बल्कि विदेशों मेें भी फंसे प्रवासी राजस्थानियों को उनके गृहजिलों और घरों तक पहुंचाया गया। -हिन्दुस्थान समाचार/राजीव/ईश्वर

Related Stories

No stories found.