राज्य सरकार स्विमिंग पूल की मौज-मस्ती में व्यस्त : केन्द्रीय मंत्री

राज्य सरकार स्विमिंग पूल की मौज-मस्ती में व्यस्त : केन्द्रीय मंत्री
राज्य सरकार स्विमिंग पूल की मौज-मस्ती में व्यस्त : केन्द्रीय मंत्री

बाड़मेर, 25 जुलाई (हि.स.)। केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने राजभवन के घेराव वाले सीएम अशोक गहलोत के बयान की निंदा की है। कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि बार-बार लोकतंत्र की दुहाई देने वाले तथाकथित गांधीवादी व्यक्ति को यह शोभा नहीं देता। संवैधानिक पद राज्यपाल की अपनी मर्यादा है और उस मर्यादा को बनाए रखते हुए आचरण करने की जिम्मेदारी हम सबकी है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बयान "राजस्थान की जनता आकर राजभवन का घेराव करेगी, फिर आप उसका दोष हमें मत दीजिएगा।" पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि प्रदेश का आमजन और किसान परेशान है। कोरोना का संकट और आपराधिक घटनाएं बढ़ रही है। दूसरी तरफ राजस्थान की कांग्रेस सरकार होटल में बैठकर बिरियानी खाने और स्विमिंग पूल की मौज-मस्ती में व्यस्त है। एक जिम्मेदार नागरिक होने के नाते जनता के दर्द को देखकर मन में दुख होता है। इस मामले में हाईकोर्ट के निर्णय पर टिप्पणी से इनकार करते हुए कैलाश चौधरी ने कहा कि भाजपा नेताओं ने तो कहा था कि मुख्यमंत्री गहलोत लोकतांत्रिक व्यवस्थाओं का जिस तरह गला घोंट रहे हैं। इन सब विषयों पर कोर्ट को संज्ञान लेना चाहिए। इसीलिए कोर्ट ने उस दिशा में अपना सही निर्णय लिया है। कृषि राज्यमंत्री चौधरी ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और कांग्रेस नेता बिना किसी तर्क और तथ्य के अपने घर की लड़ाई का ठीकरा भाजपा और राज्यपाल पर फोड़ रहे है। यह परंपरा निश्चित रूप से निंदनीय और चिंतनीय है। हिन्दुस्थान समाचार/ईश्वर-hindusthansamachar.in

अन्य खबरें

No stories found.