time-is-challenging-help-india39s-contribution-to-human-service-is-unimaginable-former-governor-tibrewal
time-is-challenging-help-india39s-contribution-to-human-service-is-unimaginable-former-governor-tibrewal
राजस्थान

समय चुनौतीपूर्ण है, मानव सेवा में हेल्प इंडिया का योगदान अकल्पनीय : पूर्व राज्यपाल टिबरेवाल

news

जयपुर, 26 जनवरी (हि.स.)। न्यायमूर्ति एवं राजस्थान के पूर्व राज्यपाल एनएल टिबरेवाल ने कहा कि गरीबी, शिक्षा, चिकित्सा एवं पर्यावरण ऐसे मुद्दे हैं जो देश को आगे बढ़ाने से रोक रहे हैं। मगर विश्वव्यापी हेल्प इंडिया ऑनलाइन संस्थान ने अपने अल्प समय में ही मानव कल्याण एवं जन उत्थान की दिशा में जो कदम बढ़ाए हैं वह का वाकई अकल्पनीय व काबिले तारीफ है। गणतंत्र दिवस के अवसर पर अपनी शुभकामनाएं देते हुए उन्होंने कहा कि आज जिन परिस्थितियों अथवा चुनौतियों का सामना हिंदुस्तान कर रहा है ऐसे में हमें सकारात्मक सोच के साथ परस्पर सहयोग व सामूहिक टीम भावना से कार्य करने की आवश्यकता है। वे मंगलवार को यहां है हेवा हैवन रिसोर्ट में भारत सरकार के नीति आयोग एवं स्किल इंडिया द्वारा पंजीकृत विश्व के पहले सोशल एंटरप्रेन्योर हेल्प इंडिया ऑनलाइन संस्थान के कार्यक्रम में झंडारोहण पश्चात अपना अध्यक्षीय वक्तव्य थे। इस दौरान उन्होंने इंटरनेशनल रेसलर दी ग्रेट खली.दिलीप सिंह राणा व कवि.लेखक विष्णु पारीक को मानव मित्र.2021अवार्ड प्रदान कर सम्मानित भी किया। कार्यक्रम में पूर्व राज्यपाल ने मानव सेवा को सबसे बड़ी सेवा बताते हुए उन्होंने कहा कि मनुष्य शरीर का सदुपयोग तभी संभव है जब मानवता की सेवा हो। हेल्प इंडिया के उद्देश्यों. क्रियाकलापों से अभिभूत पूर्व राज्यपाल टिबरेवाल ने कहा सभी के विकास से ही हिंदुस्तान का विकास संभव है कि न्यायमूर्ति एवं पूर्व राज्यपाल टिबरेवाल ने स्वयं हेल्प इंडिया के चीफ पैटर्न पद की शपथ भी ली। इस अवसर पर कार्यक्रम में उत्तराखंड के पूर्व जस्टिस दंपति राजेश टंडन व श्रीमती शशि टण्डन ने भी कहा कि सामाजिक सरोकारों के साथ व्यक्ति को आर्थिक रूप से सुदृढ़ बनाकर हेल्प इंडिया की कार्यकुशलता आने वाले दिनों में निश्चित ही नए कीर्तिमान रचेगी। इस अवसर पर रेसलर खली.दिलीप सिंह राणा ने गणतंत्र दिवस पर सभी को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि हेल्प इंडिया के राष्ट्रहित में गौरवान्वित करने वाले कार्य उन्हें भी दिल से सहयोग करने की प्रेरणा देते हैं। उन्होंने कहा कि नियत वह मेहनत पूर्वक किये गये हर कार्य में परमात्मा भी हेल्प करते हैं। एआईआईपीपीएचएस यूनिवर्सिटी, दिल्ली की उपकुलपति अंजू भंडारी ने भी विचार रखे। सभी का स्वागत हेल्प इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉक्टर जगदीश पारीक ने किया। राष्ट्रीय महामंत्री डॉ पवन पारीक ने प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भर भारत की परिकल्पना को साकार करने में प्रयत्नशील हेल्प इंडिया राष्ट्र को संबल एवं सक्षम बनाने में लोगों के सामाजिक दायित्व व व्यक्तिगत जीवन के निर्वहन में भी अग्रणी भूमिका अदा कर रहा है। हिन्दुस्थान समाचार/राजीव/संदीप-hindusthansamachar.in