This year New Year will welcome 2021 with night curfew
This year New Year will welcome 2021 with night curfew
राजस्थान

इस साल न्यू ईयर पर नाइट कफ्र्यू से घरों में ही होगा 2021 का स्वागत

news

जयपुर, 29 दिसम्बर (हि.स.)। कोरोना महामारी के संक्रमण की वजह से प्रदेश के विभिन्न जिलों में बढ़ रहे संक्रमितों और इससे होने वाली मौतों का ग्राफ थामने के लिए सरकारी सख्ती के कारण इस साल न्यू ईयर का जश्न घरों में ही मनेगा। प्रदेशवासी घरों में ही 31 दिसम्बर की रात बारह बजे घड़ी की सूईयों का मिलन होते ही वर्ष 2021 का स्वागत करेंगे। राज्य सरकार की सख्ती के कारण इस साल राजधानी जयपुर समेत पूरे प्रदेश में नए साल के स्वागत में 31 दिसंबर की रात होटलों, क्लबों, गार्डनों में डीजे, मस्ती, धमाल, आतिशबाजी और पार्टी नहीं हो सकेगी। नववर्ष की पूर्व संध्या पर आयोजित होने वाले सभी कार्यक्रमों पर रोक रहेगी। कोरोना के चलते इस बार 31 दिसम्बर की रात 8 से एक जनवरी की सुबह 6 बजे तक कफ्र्यू रहने से प्रदेशवासी न्यू ईयर सेलिब्रेशन घर से बाहर मनाने नहीं जा सकेंगे। शाम 7 बजे बाजार बंद हो जाएंगे और रात 8 बजे से पहले पब, रेस्त्रां, बार बंद हो जाएंगे। नाइट कफ्र्यू की वजह से फार्म हाउसों, गली-मोहल्लों, कॉलोनियों, सामुदायिक केंद्रों में भी जश्न नहीं मनाया जा सकेगा। सिर्फ घर में रहकर बंद कमरों में परिवार के लोग नए साल का स्वागत कर सकेंगे। आबकारी विभाग भी कफ्र्यू गाइडलाइन की पालना करते हुए न्यू ईयर पार्टियों में शराब परोसने के लिए दिए जाने वाले ऑकेजनल यानी अस्थाई लाइसेंस जारी नहीं करेगा। शराब दुकान, पब और बार रात आठ बजे तक बंद करने के लिए पाबंद किया गया है। हर साल न्यू ईयर पर जयपुर शहर समेत प्रदेशभर में पार्टियों के लिए हजारों ऑकेजनल लाइसेंस जारी होते रहे हैं। इससे आबकारी विभाग को लाइसेंस फीस और शराब बिक्री से करोड़ों का रेवेन्यू प्राप्त होता था। इस बार न्यू ईयर पार्टियों पर रोक होने से रेवेन्यू नुकसान भी होगा। सरकारी सख्ती का आलम यह है कि प्रदेशभर में आस-पास के राज्यों अथवा जिलों से क्रिसमस सेलिब्रेशन मनाने आए सैलानी भी नाइट कफ्र्यू की जानकारी मिलने पर बुकिंग करवा कर लौट गए हैं। राजधानी जयपुर में तो शाम 7 बजते ही बाजार बंद होने से वे घूम नहीं पा रहे थे। सरकार की नई गाइड लाइन के तहत प्रदेशभर में 31 दिसंबर को न्यू ईयर सेलिब्रेशन के नाम पर आतिशबाजी चलाने और इसकी बिक्री पर पूरी तरह रोक रहेगी। अगर कोई गैरकानूनी तरीके से इसकी बिक्री या उपयोग करते हुए पाया गया तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। जयपुर शहर में 31 दिसंबर को सख्त रात्रिकालीन कफ्र्यू रहेगा। नाकाबंदी की जाएगी। सडक़ पर बेवजह घूमने वालों से सख्ती से निपटा जाएगा। इसके लिए पुलिस टीमें गश्त करेंगी। हिन्दुस्थान समाचार/रोहित/ ईश्वर-hindusthansamachar.in