राज्य सरकार अपनी नाकामी छिपाने के लिए केंद्र पर लगा रही है आरोप-प्रत्यारोप

राज्य सरकार अपनी नाकामी छिपाने के लिए केंद्र पर लगा रही है आरोप-प्रत्यारोप
the-state-government-is-blaming-the-center-for-hiding-its-failure

अजमेर, 13 मई(हि.स.)।पूर्व शिक्षा मंत्री व विधायक अजमेर उत्तर वासुदेव देवनानी ने कहा है कि राजस्थान में कोरोना महामारी विकराल रूप ले चुकी है। ऐसे में राज्य सरकार केंद्र सरकार के साथ तालमेल कर इस महामारी से गंभीरता से निपटने की बजाय ओछी राजनीति कर रही है। बातें तो समन्वय की कर रहे हैं, लेकिन मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सहित चिकित्सा मंत्री व अन्य मंत्री रात-दिन केंद्र सरकार और मोदी को कोस रहे हैं। यहां तक कि इनके राष्ट्रीय नेता सोनिया गांधी व राहुल गांधी भी मोदी को कोसने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। ऐसा लगता है कि मोदी की बढ़ती लोकप्रियता व बढ़ते कद से बौखलाकर कुछ राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय शक्तियां कुचक्र रच रही हैं, जिनके हाथों में मुख्यमंत्री सहित कांग्रेस के नेता खेल रहे हैं। देवनानी ने गुरुवार को अपने निवास पर पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि राज्य सरकार को इस महामारी से निपटने के लिए गंभीरता से प्रयास करने चाहिए, ऐसे समय में वह अपनी नाकामी को छिपाने के लिए आरोप-प्रत्यारोप की राजनीति कर रही है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा बार-बार चेतावनी दिए जाने के बाद भी राज्य सरकार ने कोई कदम नहीं उठाए और हाथ पर हाथ धरे बैठी रही। राज्य सरकार ने कोरोना महामारी से निपटने के लिए गंभीरता से प्रयास ही नहीं किए। उन्होंने कहा कि राज्य को 4 ऑक्सीजन प्लांट लगाने के लिए केंद्र सरकार ने 201 करोड़ रुपये दिए, परंतु कोई काम नहीं किया। यदि यह प्लांट लग जाते तो 1600 सिलेंडर प्रतिदिन उत्पादित होते और हजारों लोगों की जान बच जाती। उन्होंने कहा कि वर्तमान में केंद्र सरकार द्वारा मेडिकल ऑक्सीजन की सप्लाई बढ़ाने के लिए उत्पादन बढ़ाया जा रहा है। जहां 1 अगस्त, 2020 को 57 सौ मीट्रिक टन ऑक्सीजन का उत्पादन हो रहा था, वहीं 26 अप्रैल, 2021 को इसे बढ़ाकर 9 हजार 219 मीट्रिक टन और 30 अप्रैल को और बढ़ाकर 9 हजार 350 मीट्रिक टन प्रतिदिन कर दिया गया है। देवनानी ने कहा कि केंद्र सरकार पूरे देश में 581 ऑक्सीजन प्लांट पीएम केयर फंड से लगाए जा रहे हैं, जिसमें से राजस्थान में विभिन्न स्थानों पर 16 नए ऑक्सीजन प्लांट लगाए जाएंगे, जिनमें जयपुर में 6, कोटा में 2, सीकर में 1, लाडनूं-नागौर में 1, सोजत-पाली में 1, अजमेर में 1, नसीराबाद-अजमेर में 1, नाथद्वारा-राजसमंद में 1, बालोतरा-बाड़मेर में 1 और जोधपुर में 1 प्लांट शामिल है। हिन्दुस्थान समाचार/संतोष/संदीप

अन्य खबरें

No stories found.