the-issue-of-illegal-mining-should-be-discussed-separately---speaker-of-the-legislative-assembly
the-issue-of-illegal-mining-should-be-discussed-separately---speaker-of-the-legislative-assembly
राजस्थान

अवैध खनन के मुद्दे पर अलग से चर्चा हो- विधानसभा अध्यक्ष

news

जयपुर, 01 मार्च (हि.स.)। विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सी.पी. जोशी ने निर्देश दिए कि प्रदेश में अवैध खनन का मुद्दा काफी गंभीर है और एक प्रश्न के जरिए इसका जवाब नहीं मिल सकता है अत: इससे संबंधित प्रश्न को सदन में किसी नए तरीके से उठाया जाए ताकि इसपर अलग से सार्थक चर्चा हो सके। विधानसभा अध्यक्ष डॉ. जोशी राज्य सरकार द्वारा अवैध खनन पर नियंत्रण एवं रोकथाम से संबंधित प्रश्न के जवाब के दौरान हस्तक्षेप कर रहे थे। इससे पूर्व खान मंत्री प्रमोद जैन भाया ने विधानसभा में कहा कि राज्य सरकार द्वारा अवैध खनन पर नियंत्रण एवं रोकथाम हेतु प्रभावी प्रयास किए गए हैं। उन्होंने बताया कि एक जनवरी 2020 से 31 जनवरी 2021 तक खनिज निर्गमन के विरूद्ध 843 एफआईआर दर्ज करवाई गई है, जिनमें से 696 बजरी निर्गमन की हैं। इसके अतिरिक्त विभाग द्वारा अवैध खनन के 639 प्रकरणों में कार्यवाही कर पंचनामें बनाये गये हैं। विधायक सतीश पूनियां के मूल प्रश्न के लिखित जवाब में भाया ने बताया कि खनिज रियायतों के आवंटन-नियमन के सम्बन्ध में वैधानिक प्रावधानों के तहत नदियों से बजरी खनन पर सर्वोच्च न्यायालय की रोक से राजकीय निर्माण कार्य भी प्रभावित हुए। हिन्दुस्थान समाचार/संदीप/ ईश्वर