the-akhil-bharatiya-vidyarthi-parishad-workers-reached-the-vice-chancellor-secretariat-with-various-demands
the-akhil-bharatiya-vidyarthi-parishad-workers-reached-the-vice-chancellor-secretariat-with-various-demands
राजस्थान

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद कार्यकर्ता विभिन्न मांगों को लेकर दंडवत होकर पहुंचे कुलपति सचिवालय

news

जयपुर,22 फरवरी (हि.स.)। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद कार्यकर्ता सोमवार को राजस्थान विश्वविद्यालय से जुड़े सभी छात्रों को पांच फीसदी बोनस अंक दिए जाने, विश्वविद्यालय की नई लाइब्रेरी जल्द शुरू किए जाने सहित विभिन्न मांगों को लेकर दंडवत होकर विवि के गेट से कुलपति सचिवालय पहुंचे और घेराव किया। एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने परीक्षा नियंत्रक के खिलाफ भी नारेबाजी की और कुलपति से उन्हें हटाने की भी मांग रखी। इससे पहले अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता राजस्थान विश्वविद्यालय के मुख्यद्वार के पास इकट्ठा हुए और नारेबाजी कर विरोध जताया। इसके साथ ही एबीवीपी की ओर से परीक्षा नियंत्रक पर गंभीर आरोप लगाते हुए इन आरोपों की जांच करवाने की भी मांग की है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के प्रदेश मंत्री होशियार सिंह ने बताया कि राजस्थान के सभी विश्वविद्यालयों ने प्रमोटेड विद्यार्थियों को पांच प्रतिशत बोनस अंक दिए हैं, जबकि राजस्थान विवि ने बोनस अंक नहीं दिए हैं। राजस्थान विवि को भी विद्यार्थियों को पांच फीसदी बोनस अंक देने की मांग की जा रही है। इसके साथ ही नॉन कॉलेजिएट विद्यार्थियों से 1000 रुपये लेने की व्यवस्था खत्म करने, कॉलेज लेक्चरर भर्ती से पहले सेट परीक्षा करवाने, प्रमोटेड विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति देने, विवि की नई लाइब्रेरी जल्द शुरू करवाने, सत्र 2021 के लिए पीजी सेमेस्टर और यूजी के पाठ्यक्रम में कटौती करने, प्रशासनिक कार्यों के लिए सिंगल विंडो सिस्टम लागू करने और निशुल्क बालिका शिक्षा का वादा पूरा करने सहित अन्य मांगों को पूरा करने की मांग की गई है। परिषद के प्रदेश मंत्री होशियार मीणा ने बताया कि कि यदि यह मांगें जल्द पूरी नहीं की गई तो बड़ां आंदोलन किया जाएगा जिसकी पूरी जिम्मेदारी राज्य सरकार और विश्वविद्यालय प्रशासन की होगी। हिन्दुस्थान समाचार/दिनेश/संदीप

AD
AD