गंगा दशमी पर गंगा माता मंदिरों में सजी झांकियां

गंगा दशमी पर गंगा माता मंदिरों में सजी झांकियां
tableaux-decorated-in-ganga-mata-temples-on-ganga-dashami

जयपुर, 20 जून (हि.स.)। राजधानी जयपुर में गंगा दशमी के अवसर पर शहर के गंगा मंदिरों सहित अन्य मंदिरों में माता का अभिषेक कर नवीन पोशाक धारण करवाई गई। विशेष झांकी सजा कर कई धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन हुआ। इसके साथ गंगा माता को फूल बंगले की झांकी में विराजित कर 56 भोग की झांकी सजाई गई। कोरोना काल के चलते श्रद्धालुओं के लिए मंदिर बंद रहे,लेकिन मंदिर पुजारियों की ओर से पूजा- अर्चना की गई। जयपुर के गोपाल जी के रास्ते में स्थित श्री गंगा माता के प्राचीन मंदिर में गंगा दशमी पर सात झांकियों का आयोजन किया किया। कोरोना महामारी के चलते श्रद्धालु इन झांकियों का दर्शन ऑनलाइन किया। जय निवास उद्यान स्थित देवस्थान विभाग के गंगा माता मंदिर में पुजारी के सानिध्य में अभिषेक कर नवीन पोशाक धारण करवाई गई औ फूल बंगले की झांकी सजाई गई।गलताजी मंदिर के महंत के सान्निध्य में गौमुख पर गंगा माता का पूजन माता की महाआरती की गई। इधर सद्ज्ञान और सद्बुद्धि की अधिष्ठात्री देवी मां गायत्री का अवतरण दिवस पर गायत्री जयंती के रूप में पारंपरिक उल्लास और उमंग के मनाया गया। इस कड़ी में अखिल विश्व गायत्री परिवार की ओर से ब्रह्मपुरी स्थित गायत्री शक्तिपीठ से पंचकुंडीय यज्ञ किया गया। यज्ञ से पहले पर्व पूजन हुआ। गायत्री परिजन एवं अन्य लोगों ने अपने घरों में जूम एप और यूट्यूब के माध्यम से इस कार्यक्रम से जुड़कर यज्ञ किया। यज्ञ के दौरान गायत्री परिवार के प्रमुख डॉ. प्रणव पंड्या और शैलबाला पंड्या का उद्बोधन भी हुआ। सांगानेर के वाटिका स्थित गायत्री शक्तिपीठ, किरण पथ मानसरोवर स्थित चेतना केन्द्र में गायत्री जयंती श्रद्धा और विश्वास के साथ मनाई गई। इसके अलावा सांगानेर, दुर्गापुरा, वैशाली नगर, गांधी नगर, मालवीय नगर, विद्याधर नगर सहित अन्य चेतना केंद्र पर संक्षिप्त आयोजन हुए। हिन्दुस्थान समाचार/दिनेश/ ईश्वर

अन्य खबरें

No stories found.