वायरल वीडियो पर स्पष्टीकरण दें विधानसभा अध्यक्ष: डॉ. पूनिया
वायरल वीडियो पर स्पष्टीकरण दें विधानसभा अध्यक्ष: डॉ. पूनिया
राजस्थान

वायरल वीडियो पर स्पष्टीकरण दें विधानसभा अध्यक्ष: डॉ. पूनिया

news

जयपुर, 30 जुलाई (हि.स.)। राजस्थान में चल रही सियासी उठापटक के बीच विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के पुत्र वैभव गहलोत का वीडियो वायरल हुआ है। वीडियो में वैभव और डॉ. जोशी आपस में बातचीत करते हुए दिखाई दे रहे हैं। वायरल वीडियो पर भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया ने विधानसभा अध्यक्ष की भूमिका पर सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने कहा कि सदन में अध्यक्ष की भूमिका निरपेक्ष होती हैं लेकिन इस इस तरह के वीडियो आना चिंताजनक है। वीडियो पर अध्यक्ष को स्पष्टीकरण देना चाहिए। वीडियो में साफ लग रहा है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को अपने पुत्र वैभव गहलोत को जल्दी से स्थापित करने की चिंता सता रही है, वही डॉ. सीपी जोशी को गहलोत सरकार को बचाने की चिंता है। यह उन्होंने समय-समय पर कहीं ना कहीं, किसी न किसी रूप में प्रकट किया है। वीडियो की वैधानिकता और सत्यता के बारे में स्वयं अध्यक्ष सामने आकर कुछ कहें यह ज्यादा बेहतर होगा। डॉ. पूनिया ने कहा कि अगर सच्चाई है, जो दिखती है तो अध्यक्ष का नैतिक रूप से सदन की गरिमा और निरपेक्षता को बनाए रखने के लिए अपने पद पर बने रहना उचित नहीं है। वह स्वयं आगे आकर पद छोड़ना चाहिए, यह राजनीतिक में बड़ा उदाहरण होगा। उन्होंने कहा कि ऐसे आरोप राजनेताओं पर आरोप लगते हैं और उनसे इस्तीफे भी मांगे जाते हैं, लेकिन यह आरोप तो साफ-साफ है और उसका वायरल वीडियो में प्रमाण भी है। पूनिया ने अध्यक्ष की भूमिका पर सवाल उठाते कहा कि यह बात तो ठीक है कि विधानसभा अध्यक्ष बनने से पहले कोई भी व्यक्ति किसी न किसी पार्टी की विचार धारा से जुड़ा होता है लेकिन अध्यक्ष बनने के बाद भगवान की भूमिका में होती है। लेकिन पिछले दिनों का उनका आचरण खासतौर पर जो मुझे संयम लोढ़ा ने विशेषाधिकार हनन का नोटिस दिया था वो बिना आधार के अध्यक्ष ने स्वीकार कर लिया। कांग्रेस पार्टी के विधायकों को भी सरकार के इशारे पर रातों-रात विधानसभा सचिवालय खुलवा कर नोटिस जारी कर दिए गए। इसमें अध्यक्ष की भूमिका पर सवाल उठ रहे हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा इस मामले में आगे कोई निर्णय ले उससे पहले स्वयं अध्यक्ष को इस बारे में आत्म चिंतन करना चाहिए। गौरतलब है कि विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी और मुख्यमंत्री गहलोत के पुत्र और राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष वैभव गहलोत के बीच बातचीत का एक वीडिया वायरल हो रहा है। वीडियो में वैभव ने माना कि राज्यसभा चुनाव के समय से ही उनके पिता अशोक गहलोत का मूड खराब चल रहा है और अभी भी राजनीतिक हालात बहुत टफ बने हुए हैं। इस पर जोशी ने कहा कि यदि 30 विधायक चले जाते तो आप कुछ नहीं कर सकते थे। आप कितना भी होहल्ला मचा लेते, पर आपकी सरकार गिर जाती। यह तो उन्होंने (अशोक गहलोत) अपनी चतुराई से रोक लिया। यह काम सिर्फ वो ही कर सकते थे। वीडियो के संवाद से प्रतीत होता है कि प्रदेश के मौजूदा राजनीतिक हालातों में सीपी जोशी चिंतित हैं। फिलहाल सीपी जोशी और वैभव गहलोत की कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। हिन्दुस्थान समाचार/ ईश्वर/सुनीत-hindusthansamachar.in