So far, 4671 deaths found in 27 districts of Rajasthan, bird flu infection in 16 districts
So far, 4671 deaths found in 27 districts of Rajasthan, bird flu infection in 16 districts
राजस्थान

राजस्थान के 27 जिलों में अबतक मृत मिले 4671 परिन्दे, 16 जिलों में बर्ड फ्लू का संक्रमण

news

जयपुर, 14 जनवरी (हि.स.)। राजस्थान में एवियन इन्फ्लुएंजा (बर्ड फ्लू) का संक्रमण अब तक प्रदेश के 27 जिलों में 4671 परिन्दों के प्राण लील चुका हैं। हालांकि, राजस्थान से भोपाल की रेफरल लैब को भेजे गए 266 नमूनों में से 16 जिलों के 62 नमूनों में ही बर्ड फ्लू के संक्रमण की पुष्टि हुई हैं, लेकिन प्रदेश के लगभग सभी जिलों में पक्षियों की असामयिक मौतों का सिलसिला बदस्तूर जारी हैं। प्रदेश में गुरुवार शाम तक गुजरे 24 घंटों में 22 जिलों में 281 पक्षियों की मौतें हुई। राज्य के झालावाड़ जिले में सर्वप्रथम कौओं की असामयिक मौतों के बाद विभिन्न जिलों में पक्षियों की मौतें होने का सिलसिला अबतक जारी है। प्रदेश में 25 दिसम्बर से लेकर गुरुवार तक 4671 पक्षी असामयिक मौत के शिकार हो चुके हैं। इनमें 3361 कौएं, 247 मोर, 318 कबूतर तथा 745 अन्य पक्षी शामिल है। राजस्थान से भोपाल की रेफरल लैब को अब तक 27 जिलों से 266 सैम्पल्स भेजे जा चुके हैं, जिनमें से 16 जिलों के 62 नमूने पॉजिटिव पाए गए हैं। राजस्थान के 22 जिलों में गुरुवार को 281 पक्षी मृत मिले। इनमें 165 कौएं, 42 कबूतर, 20 मोर तथा 54 अन्य पक्षी शामिल हैं। गुरुवार को जयपुर में 65, अलवर में 6, दौसा व भरतपुर में 5-5, झुंझुनूं, श्रीगंगानगर व टोंक में 10-10, सीकर में 25, अजमेर व नागौर में 1-1, कुचामन सिटी व जालोर में 2-2, सवाई माधोपुर व जैसलमेर में 9-9, जोधपुर में 11, बाड़मेर व पाली में 8-8, कोटा में 26, बारां व चित्तौडग़ढ़ में 20-20, झालावाड़ में 23 पक्षियों की मौतें हुई। राज्य के पशुपालन विभाग की ओर से जिन जिलों में मृत पक्षियों की सूचना मिल रही हैं, वहां से उनके नमूने बर्ड फ्लू की जांच के लिए भोपाल की रेफरल लैब को भिजवाए जा रहे हैं। अब तक राज्य में राजधानी जयपुर, दौसा, सवाई माधोपुर, हनुमानगढ़, जैसलमेर, पाली, सिरोही, कोटा, बारां, झालावाड़, बांसवाड़ा, चित्तौडगढ़़, टोंक, करौली, प्रतापगढ़ व झुंझुनूं जिले में मृत पाए गए पक्षियों के सैम्पल्स की जांच रिपोर्ट में बर्ड फ्लू के संक्रमण की पुष्टि हो चुकी हैं। हिन्दुस्थान समाचार/रोहित/ ईश्वर-hindusthansamachar.in