सांभर झील में प्रवासी पक्षियों की सुरक्षा के लिए समय रहते माइक्रो प्लानिंग जरूरी
सांभर झील में प्रवासी पक्षियों की सुरक्षा के लिए समय रहते माइक्रो प्लानिंग जरूरी
राजस्थान

सांभर झील में प्रवासी पक्षियों की सुरक्षा के लिए समय रहते माइक्रो प्लानिंग जरूरी

news

जयपुर, 24 जुलाई (हि.स.)। सांभर झील में प्रवासी पक्षियों की सुरक्षा के लिए सम्बन्धित विभाग समय रहते यथोचित कदम उठाए जाएंगे। जिला कलेक्टर अंतर सिंह नेहरा ने शुक्रवार को जिला कलेक्ट्रेट मेें बैठक लेकर पूर्व में दिए गए निर्देशों की पालना एवं सम्बन्धित विभागों द्वारा पक्षियों की सुरक्षा के लिए अब तक किए प्रयासों की समीक्षा भी की। नेहरा ने निर्देशित किया कि प्रवासी पक्षी हमारे मेहमान हैं और उनकी सुरक्षा के लिए सभी सम्बन्धित विभाग माइक्रो प्लानिंग करें। झील क्षेत्र में काम कर रहे सांभर सॉल्ट के कार्मिक आते-जाते झील क्षेत्र में हुई हर पक्षी की मृत्यु पर नजर रखें और तहसीलदार, पटवारी, बीडीओ और एसडीएम भी विशेषकर उन क्षेत्रों का सामयिक दौरा करें जहां मानसून के बाद पिछली बार बड़ी संख्या में प्रवासी पक्षी एवियन बोट्यूलिज्म के कारण मारे गए थे। अगर झील क्षेत्र में कहीं किसी पक्षी का कारकस (मृत शरीर) मिले तो उसका प्रोटोकॉल के अनुसार गड्ढा खोदकर त्वरित एवं उचित निस्तारण किया जाए। नेहरा ने पूर्व निर्देशों की समीक्षा करते हुए वन विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे जल्द से जल्द झील में वॉच टावर की स्थापना के लिए स्थान चिन्हित कर सांभर सॉल्ट को बताएं। पिछली वर्ष बड़ी संख्या में महामारी से पक्षियों के मारे जाने के कारण इस वर्ष भी इसकी आशंका है। इसे देखते हुए नेहरा ने प्रभावित पक्षियों की देखभाल के लिए नर्सरी स्थापित करने हेतु जमीन के चिन्हीकरण एवं अस्थायी नर्सरी की व्यवस्था रखने के निर्देश दिए। उन्होंने सीवरेज प्लांट की स्थापना, मानसून पूर्व एवं बाद में जल गुणवत्ता के सैम्पल लेने, सोडियम सुपरथेट कचरे के निस्तारण समेत कई विषयों पर सम्बन्धित विभागों को निर्देशित किया। हिन्दुस्थान समाचार/संदीप / ईश्वर-hindusthansamachar.in