राजस्थान की कांग्रेस सरकार के पास पूर्ण बहुमत, जल्द साबित करेंगे : गहलोत
राजस्थान की कांग्रेस सरकार के पास पूर्ण बहुमत, जल्द साबित करेंगे : गहलोत
राजस्थान

राजस्थान की कांग्रेस सरकार के पास पूर्ण बहुमत, जल्द साबित करेंगे : गहलोत

news

जयपुर, 23 जुलाई (हि.स.)। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि राजस्थान में सत्तारूढ़ कांग्रेस सरकार के पास पूर्ण बहुमत है और जल्द ही इसे विधानसभा में सबके सामने लाया जाएगा। सीएम ने कहा कि गृहमंत्री अमित शाह और भाजपा के केन्द्रीय नेतृत्व के इशारों पर हो रही छापेमारी से राजस्थान घबराने वाला नहीं है। पूरा कांग्रेस विधायक दल एकजुट हैं और भाजपा का चुनी हुई सरकार गिराने का षडयंत्र कामयाब नहीं होने दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कल को यह नहीं कहे कि राजस्थान को लेकर हुए घटनाक्रम की उन्हें जानकारी नहीं थी, इसलिए सबूत के तौर पर रिकार्ड पर लाने के लिए मैंने उन्हें पत्र लिखा है। फोन टेपिंग प्रकरण पर उन्होंने दावा किया कि अमेरिका में एफएसएस जांच करवा लें तो भी फोन टेपिंग में कैद हुई आवाजों को झुठलाया नहीं जा सकेगा। सत्य की जीत होगी। भारतीय जनता पार्टी के लोग जो भी कर रहे हैं, उसे पूरा देश देख रहा है। गहलोत ने कहा कि जो लोग भटक गए हैं, सिर्फ वे लोग कोर्ट में गए है। स्पीकर ने नोटिस दिया है, लेकिन उनके इरादे अलग है। सीएम हाउस में हमने विधायक दल की बैठक बुलाई थी। यह इसलिए बुलाई थी कि जो लोग भटक चुके हैं, वे लौट आए। नहीं आए तो मुख्य सचेतक ने स्पीकर के समक्ष एक शिकायत दर्ज कराई कि उनकी मंशा अलग होने की है। स्पीकर ने उन्हें नोटिस दिया तो वे लोग कोर्ट चले गए। सुप्रीम कोर्ट और स्टेट हाईकोर्ट के जो फैसले आ रहे हैं, ये उसी रूप में है। एंटी डिफेक्शन बिल से उनका कोई लेना-देना नहीं है। गहलोत ने कहा कि पूरा कांग्रेस विधायक दल एकजुट है, इसीलिए सभी होटल में एकजुटता से बैठे हैं। जबकि, कांग्रेस से अलग होने की मंशा रखने वाले विधायकों को वहां की होटल में बंधक बनाकर रखा गया है। उनके फोन रख लिए गए हैं। बाउंसर लगाए गए है। उनमें से कईयों के फोन आ रहे है कि हमें बाहर नहीं निकलने दिया जा रहा है। हमें उम्मीद है कि जब वे छूटेंगे तो उनमें से कई हमारे साथ होंगे। हमारे पास पूर्ण बहुमत है और उसी बहुमत के सहारे हम आगे बढ़ेंगे। गहलोत ने कहा कि हम न्यायपालिका का सम्मान करने वाले लोग है। संवैधानिक संस्थाओं में किसी तरह का टकराव नहीं होना चाहिए। आम आदमी को न्याय की उम्मीद वहीं से होती है, इसलिए आम आदमी का विश्वास न्यायपालिका से नहीं उठना चाहिए। उन्होंने कहा कि आज दुर्भाग्यवश मीडिया गोदी मीडिया बन गया है। ऐसे वक्त में मीडिया से ही सच्चाई को सामने लाने की हिम्मत बंधती है। मीडिया को कोशिश करनी चाहिए कि जो सच है, उसे सबके सामने रखे। हिन्दुस्थान समाचार/रोहित पारीक / ईश्वर-hindusthansamachar.in