गर्भवती आफरीन बानो ने चिरंजीवी योजना के सहारे कोरोना को हराया, स्वस्थ होकर दिया बच्चे को जन्म

गर्भवती आफरीन बानो ने चिरंजीवी योजना के सहारे कोरोना को हराया, स्वस्थ होकर दिया बच्चे को जन्म
pregnant-afreen-bano-defeated-corona-with-the-help-of-chiranjeevi-scheme-gave-birth-to-a-healthy-child

जयपुर, 20 जून(हि.स.)। चूरू जिले के सरदारशहर की आफरीन बानो आठ माह की गर्भवती थी परन्तु दुर्भाग्यवश कोरोना महामारी की दूसरी लहर की चपेट में आ गई। घर में सब कुछ बढ़िया चल रहा था। नए मेहमान के आने की तैयारी हो रही थी। अचानक 16 मई की रात उन्हें तेज बुखार और हाथ पैरों में दर्द हुआ। पहले तो इसे सामान्य मानते हुए उन्होंने अपने डॉक्टर से सलाह लेकर दवा ली लेकिन बार-बार बुखार होने के कारण उनके व उनके परिजनों के मन में डर होने लगा। कोरोना के भारी प्रकोप के चलते डर होना लाज़मी भी था। डॉक्टर के सुझाव पर 21 मई को आफरीन बानो की कुछ जरुरी खून जांच करवाई गई, जिसमें इन्फेक्शन सामने आया। इसके बाद उन्होंने अपना कोरोना टेस्ट करवाया। टेस्ट की रिपोर्ट में आफरीन बानो कोरोना पॉजिटिव निकली। घर पर सभी लोग चिंताग्रस्त हो गए। कोरोना का इलाज भी कराना था और गर्भवती होने के कारण आफरीन को ज्यादा शारीरिक श्रम से भी बचाना था। मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा के पंजीकृत लाभार्थी होने के कारण घर वालो ने योजना से जुड़ें किसी अच्छे प्राइवेट अस्पताल में इलाज कराने का मन बनाया। आखिर योजना का सबसे बड़ा फायदा ये भी है कि इसमें सरकारी के साथ योजना से जुड़ें निजी अस्पताल में भी निःशुल्क इलाज मिलता है। आफरीन के घरवालों ने योजना से जुड़े बीकानेर के एक प्राइवेट अस्पताल डीटीएम हॉस्पिटल में अपनी पात्रता की जांच करा के आफरीन जी को भर्ती कराया। गर्भवती होने के कारण उसको विशेष इलाज और देखभाल की जरूरत थी। विशेषज्ञ डॉक्टर और टीम ने इलाज शुरू किया और धीरे-धीरे आफरीन की तबीयत में सुधार आता गया। इस दौरान अस्पताल ने कोविड के उपचार के साथ उनके गर्भवती होने का भी ख्याल रखा। कुल 12 दिन आफरीन बानो ने अस्पताल में स्वास्थ्य लाभ लिया और 7 जून को उनके कोरोना के रिपोर्ट नेगेटिव एवं पूरी तरह स्वस्थ होने के पश्चात उन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया और अगले ही दिन उन्होंने अपने बच्चे को जन्म दिया। प्रसव पूरी तरह सुरक्षित रहा। अच्छे इलाज़ और बढ़िया देखभाल से आफरीन बानो व उनका बच्चा पूरी तरह से स्वस्थ है। आफरीन बानो के कोरोना उपचार पर एक लाख दो हजार रुपये का खर्च आया जो राज्य सरकार द्वारा वहन किया गया। आफरीन बानो के परिजनों ने अस्पताल के समस्त स्टाफ, डॉक्टर्स व सरकार को धन्यवाद देते हुए कहा कि इन सभी की मदद से आज वह एवं उनका बच्चा पूरी तरह स्वस्थ है। गर्भवती होते हुए कोरोना होने की खबर ने सभी को डरा दिया था। आफरीन और उसके होने वाले बच्चे को लेकर चिंतित थे पर मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना ने इस मुश्किल समय से बाहर निकाल दिया। हिन्दुस्थान समाचार/संदीप/ ईश्वर

अन्य खबरें

No stories found.