वीकेंड कर्फ्यू पर पुलिस ने दिखाई सख्ती, बिना वजह बाहर निकले लोगों के चालान काटे

वीकेंड कर्फ्यू पर पुलिस ने दिखाई सख्ती, बिना वजह बाहर निकले लोगों के चालान काटे
police-showed-strictness-on-weekend-curfew-cut-challans-of-people-who-came-out-without-reason

जोधपुर, 20 जून (हि.स.)। राज्य सरकार द्वारा लागू किए गए त्रि स्तरीय जनअनुशासन मॉडिफाइड लॉकडाउन के अनलॉक 3.0 के पहले वीकेंड कफ्र्यू में रविवार को पुलिस की सख्ती दिखाई दी। यह वीकेंड कफ्र्यू शनिवार शाम पांच बजे शुरू हो गया था जो सोमवार सुबह पांच बजे तक जारी रहेगा। वीकेंड कफ्र्यू के तहत रविवार को पुलिस ने सख्ती दिखाई। वीकेंड कफ्र्यू का रविवार को जोधपुर में व्यापक असर नजर आया। यहां हर प्रमुख रोड व चौराहों पर सन्नाटा नजर आया। निर्धारित समय सीमा के बाद सारे बाजार पूरी तरह बंद रहे। जगह-जगह नाकों पर पुलिस तैनात रही। बिना वजह निकले वाहन चालकों के चालान बनाए गए। हालांकि रविवार का सार्वजनिक अवकाश होने के कारण लोग अपने घरों में ही रहे। प्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए त्रि-स्तरीय जन अनुशासन मॉडिफाइड लॉकडाउन 3.0 में वीकेंड कफ्र्यू लगाया गया है। त्रि-स्तरीय जन अनुशासन मॉडिफाइड लॉकडाउन 3.0 की गाइडलाइन के अनुसार वीकेंड कफ्र्यू शनिवार शाम पांच बजे से लागू होकर सोमवार सुबह 5 बजे तक रहेगा। वीकेंड कफ्र्यू के तहत शहर में आज रविवार का सार्वजनिक अवकाश होने के कारण लोग अपने घरों में ही रहे। आवश्यक काम पर जाने वाले लोग ही घरों से बाहर निकले। लोगों ने घरों में रहकर वीकेंड कफ्र्यू का समर्थन किया। लोगों के नहीं निकलने से शहर की प्रमुख सडक़ों व गलियों में भी ट्रैफिक का दबाव नजर नहीं आया। मुख्य सडक़ों व चौराहों पर पुलिस भी मुस्तैद रही। हालांकि पुलिस को वीकेंड कफ्र्यू का पालन कराने के लिए ज्यादा मशक्कत नहीं करनी पड़ी। कुछ लोग घरों से निकले तो पुलिस ने रोका और पूछताछ की। लॉकडाउन का अनुभव और जानकारी होने के कारण लोग घरों से बाहर नहीं निकले। वीकेंड कफ्र्यू के चलते बाजारों में किराणे की दुकानों को बंद रखा गया। हालांकि डेयरी, फल-सब्जी की दुकानें निर्धारित समय के लिए खुली रही। कारखानों में आम दिनों की तरह काम चलता रहा। वीकेंड कफ्र्यू और रविवार के सार्वजनिक अवकाश होने के कारण आज अन्य दिनों की अपेक्षा सडक़ों पर वाहनों की आवाजाही कम रही। दोपहर बारह बजे के बाद प्रमुख सडक़ें व बाजारों में सन्नाटा पसरा रहा। हिन्दुस्थान समाचार/सतीश / ईश्वर