अंतरराष्ट्रीय रामस्नेही संप्रदाय की प्रधान पीठ रामधाम रेण के पीठाधीश्वर हरिनारायण शास्त्री महाराज का निधन

अंतरराष्ट्रीय रामस्नेही संप्रदाय की प्रधान पीठ रामधाम रेण के पीठाधीश्वर हरिनारायण शास्त्री महाराज का निधन
pithadhishwar-harinarayan-shastri-maharaj-of-ramdham-ren-the-head-of-the-international-ramsnehi-sect-died

नागौर, 08 जून (हि.स.)। अंतरराष्ट्रीय वरिष्ठ रामस्नेही संप्रदाय की प्रधान पीठ रामधाम रेण के 8वें पीठाधीश्वर आचार्य डॉ. हरिनारायण शास्त्री महाराज का सोमवार रात्रि निधन हो गया। वे पिछले 3 साल से बीमार थे। महाराज के निधन की सूचना से सम्पूर्ण देश-विदेश सहित जिले भर के उनके भक्तों और अनुयायियों में शोक छा गया है। इसकी जानकारी मिलते ही मंगलवार सुबह उनके अनुयायी अंतरराष्ट्रीय वरिष्ठ रामस्नेही संप्रदाय की प्रधान पीठ रामधाम रेण की ओर रवाना होने लगे है। आस-पास के गांवों के साथ ही दूरदराज से भी महाराज के शिष्य और अनुयायी उनके अंतिम दर्शनों के लिए आना शुरू हो गए है। रेण कस्बे के सभी बाजार और दुकानें भी शोक के चलते बंद कर दी गईं है। महाराज के निधन पर उनके अनुयायियों सहित देश-विदेश के विभिन्न संगठनों की ओर से उनके निधन पर दुख व्यक्त किया गया है। मंदिरों-मठों व आश्रमों के महंतों-पुजारियों की ओर से भी उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की गई है। महाराज को मंगलवार दोपहर 2 बजे रामधाम रेण के सामने उनके गुरु बलराम महाराज की समाधि स्थल के पास समाधि देकर ब्रह्मलीन किया जाएगा। गुरु-शिष्य परंपरा के दर्शन करने के लिए अंतरराष्ट्रीय वरिष्ठ रामस्नेही संप्रदाय की प्रधान पीठ रामधाम रेण में देश ही नहीं विदेशों से श्रद्धालु पहुंचते हैं। यहां देशभर के 50 से अधिक पीठ और आश्रमों के संत और करीब 10 हजार श्रद्धालु उत्सव मनाते हैं। हिन्दुस्थान समाचार/रोहित/संदीप