निर्धारित मार्ग से भेड़ निष्क्रमण के लिए समन्वय बनाकर काम करें अधिकारी : मुख्य सचिव

निर्धारित मार्ग से भेड़ निष्क्रमण के लिए समन्वय बनाकर काम करें अधिकारी : मुख्य सचिव
officers-should-work-in-coordination-for-sheep-evacuation-from-the-prescribed-route-chief-secretary

जयपुर, 07 जून (हि.स.)। मुख्य सचिव निरंजन आर्य की अध्यक्षता में सोमवार को भेड़ निष्क्रमण के सम्बंध में बैठक आयोजित हुई। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित बैठक में वर्ष 2021-2022 के लिए भेड़ निष्क्रमण के नियंत्रण और नियमन पर चर्चा की गई। बैठक में मुख्य सचिव आर्य ने पशुपालन, कमिश्नर, पुलिस आईजी सहित संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि निष्क्रमण के दौरान भेड़ पालकों की सहायता के लिए नियंत्रण व नोडल अधिकारियों की नियुक्ति, स्थाई और अस्थाई चेक पोस्ट की स्थापना करते हुए भेड़ों की स्वास्थ्य रक्षा के लिए टीकों तथा औषधियों की उपलब्धता भी रखी जाए। उन्होंने आईटी तकनीक के उपयोग से भेड़ पालकों की मॉनिटरिंग करते हुए जनाधार कार्ड से राशन सामग्री की उपलब्धता के भी आदेश दिए। आर्य ने कहा कि निर्धारित मार्गों से भेड़ निष्क्रमण के लिए वन विभाग के अधिकारी समन्वय बनाकर कार्रवाई करें। साथ ही, भेड़ निष्क्रमण के नए प्रस्तावित मार्गों का निर्धारण करते हुए वनों में चराई के नए प्रतिबंध क्षेत्रों की सूची समय रहते जिला प्रशासन को उपलब्ध करवाई जाए। उन्होंने कहा कि ऐसा होने पर भेड़ पालकों का ठहराव वन भूमि की बजाय निर्धारित स्थानों पर हो सकेगा। आर्य ने कहा कि वन विभाग के अधिकारी नियमानुसार कार्रवाई करते हुए सम्बन्धित जिलों में प्रशासनिक अधिकारियों के साथ समन्वय बनाकर उक्त कार्य करें। बैठक में वन एवं पर्यावरण विभाग की प्रमुख शासन सचिव श्रेया गुहा, प्रधान मुख्य वन संरक्षक एवं वन-बल प्रमुख श्रुति शर्मा और अतिरिक्त प्रधान वन संरक्षक (वन सुरक्षा) उदय शंकर सहित अन्य अधिकारी ऑनलाइन शामिल हुए। हिन्दुस्थान समाचार/रोहित/संदीप