now-there-is-an-opportunity-to-be-self-employed-by-self-employment---rahul-shankar
now-there-is-an-opportunity-to-be-self-employed-by-self-employment---rahul-shankar
राजस्थान

अब स्वरोजगार से आत्मनिर्भर होने का अवसर -राहुल शंकर

news

कोटा, 20 मई (हि.स.)। कोरोनाके दौरान पिछले सवा साल में बिजनेस, नौकरी एवं सर्विस सेक्टर से जुडे़ लोगों की आय में 25 से 30 प्रतिशत तक गिरावट आई है। आंकड़ों को देखें तो अकेले अप्रैल-मई माह में 2 करोड़ लोगों को जॉब से हाथ धोना पड़ा है। पिछले एक वर्ष में देश में बेरोजगारी दर 23 प्रतिशत बढ़ी है। कोरोना से 97 फीसदी परिवारों में मासिक आय कम हो गई है। इससे उबरने के लिये हमें फिर से स्वरोजगार के अवसर अपनाने होंगे।’ मोदी केयर लिमिटेड के सीओओ राहुल शंकर ने रविवार को ‘ग्रीन टी विद आभाजीत’ द्वारा आत्मनिर्भर परिवार पर आयोजित नेशनल वेबिनार में यह बात कही। उन्होंने कहा कि विपदाओं के बाद प्रत्येक क्षेत्र में हमें नये अवसर ढूंढने होंगे। परिवार को आत्मनिर्भर बनाने के लिये हम घर से सीधी बिक्री शुरू कर सकते हैं। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि गत 7 वर्षों में भारत में सीधी बिक्री कारोबार में कई परिवर्तन आये हैं। प्रधानमंत्री के ‘आत्मनिर्भर परिवार’ एवं ‘डिजिटल इंडिया’ परिकल्पना में भारतीय सीधी बिक्री कंपनियां खरी उतरी हैं। रोजगार की बहाली के लिये हमें आत्मनिर्भर परिवार पर फोकस करना होगा। भारत में सीधी बिक्री कारोबार 4 प्रतिशत सीओओ राहुल ने बताया कि उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय द्वारा शीघ्र ही ऐसी गाइडलाइंस जारी की जाएंगी जिसमें देश की ई-कॉमर्स कंपनियों को किसी उत्पाद को बेचने के लिये सीधी बिक्री कंपनी से अनुमति लेना अनिवार्य होगा। इससे ग्राहकों को गलत उत्पाद बेचने पर रोक लग जायेगी। उन्होंने कहा कि दुनिया में घरेलू उत्पादों का 12 से 13 प्रतिशत बिजनेस सीधी बिक्री इंडस्ट्री से होता है, जबकि भारत में सीधी बिक्री कारोबार अभी सिर्फ 4 फीसदी ही है। अगले 5 वर्षों में डिजिटल इंडिया से इसमें तेजी से ग्रोथ होने की संभावना है। ‘7-पी’ फिल्टर पर खरी हो कंपनी राहुल शंकर ने कहा कि भारत में सीधी बिक्री इंडस्ट्री में कई मल्टीनेशनल कंपनियां आकर गायब हो जाती हैं। कुछ छोटी कंपनियां लोगों से पैसा लेकर बंद हो जाती है। ऐसे में ‘7-पी’ से सही कंपनी की जांच कर लें। इनमें प्रॉडक्ट, प्लान, फिलासफी, प्राइस, प्रमोशनल प्लान, प्रमोटर व परपज जैसे मापदंडों पर खरी उतरने वाली कंपनी को ही चुनेें। ‘सोच बदलो, खुद को बदलो’ मोदी केयर के प्रमुख सलाहकार जीडीबीबी जितेंद्र जैन ने कहा कि जिंदगी में आपका नजरिया तय करता है कि कितनी उंचाई तक जाना है। महामारी का सामना करके हम जिंदगी को बडे़ स्पेक्ट्रम में देखें। ‘सोच बदलो-खुद को बदलो’ सोच के साथ अपने परिवार को आत्मनिर्भर बनायें। विभिन्न राज्यो में अब तक 50 लाख से अधिक लोग मोदीकेयर से जुड़ चुके हैं। यह घर-घर आर्थिक आजादी पहुंचाने का राष्ट्रीय अभियान है। हिन्दुस्थान समाचार/अरविंद/ ईश्वर