नवनियुक्त महापौर शील धाभाई ने अधिकारियों की बैठक कर सात दिवस में सफाई व्यवस्था दुरूस्त करने के दिए निर्देश

नवनियुक्त महापौर शील धाभाई ने अधिकारियों की बैठक कर सात दिवस में सफाई व्यवस्था दुरूस्त करने के दिए निर्देश
newly-appointed-mayor-sheel-dhabhai-gave-instructions-to-fix-the-cleanliness-system-in-seven-days-by-holding-a-meeting-of-the-officers

जयपुर,09 जून(हि.स.)। नगर निगम ग्रेटर जयपुर की नवनियुक्त महापौर शील धाबाई की अध्यक्षता में बुधवार को निगम मुख्यालय के ईसी हाॅल में बैठक आयोजित की गई। बैठक में आयुक्त यज्ञ मित्र सिंहदेव, अतिरिक्त आयुक्त ब्रजेश कुमार चांदोलिया, जोन उपायुक्तों की उपस्थिति में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिये गये। शहर की सफाई व्यवस्था को प्राथमिक काम बताते हुये महापौर ने अधिकारियों एवं बीवीजी के प्रतिनिधियों को निर्देश दिये कि आगामी सात दिवस में शहर की सफाई व्यवस्था एकदम दुरूस्त होनी चाहिये। हर घर से कचरा एकत्रित होना चाहिये और कचरा डिपो समय पर साफ होने चाहिये। उन्होंने कहा कि बीवीजी के भुगतान सम्बन्धी मामलों की नियमानुसार गणना कर एक सप्ताह में निस्तारित करें। पहली बैठक के महत्वपूर्ण निर्णय हुड़कों से प्राप्त होने वाले 100 करोड़ रूपये के लोन की पत्रावली का अनुमोदन कर गारन्टी हेतु राज्य सरकार को प्रेषित किया गया। साधारण सभा की बैठक के निर्णयों का क्रियान्वन प्रारम्भ महापौर की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में साधारण सभा में लिये गये निर्णयों की पालना में पार्षदों को दिये जाने वाले लैपटाॅप की पत्रावली की टेन्डर प्रक्रिया प्रारम्भ करने हेतु पत्रावली का अनुमोदन किया गया। इसके अतिरिक्त सड़क पर इकट्ठा होने वाले कचरे के संग्रहण के लिए लम्बे समय से चली आ रही हाथ गाड़ी खरीद की पत्रावली का भी अनुमोदन किया गया। गौरतलब है कि यह निर्णय भी साधारण सभा में लिया गया था। जल्द बनेगे प्रत्येक वार्ड में हाजरीगाह प्रत्येक वार्ड में बनाये जाने वाले हाजरीगाह की निविदा पत्रावली का अनुमोदन कर कार्यादेष जारी किये गये। प्रत्येक वार्ड में हाजरीगाह बनने से सफाई व्यवस्था में लगे कार्मिकों की उपस्थिति सुनिश्चित होगी और कार्य में पारदर्शिता आयेगी। प्रत्येक वार्ड में जाॅब बेसिस पर लगाये जाने वाले 2 सफाई कर्मियों की निविदा पत्रावली का अनुमोदन किया गया। जिससे शीघ्र ही प्रत्येक वार्ड के लिये 2 अतिरिक्त सफाई कर्मी उपलब्ध होगे। पार्षदों की शिकायत पर लिया संज्ञान, जांच के निर्देश पहली बैठक में ही महापौर ने पार्षदों द्वारा पार्षद कार्यालयों के लिये खरीदे गये फर्नीचर की क्वालिटी के मामले में की गई शिकायत पर संज्ञान लेते हुये फर्नीचर की क्वालिटी की जांच करवाने के निर्देश दिये। उन्होंने निर्देश दिये कि यदि जांच में फर्नीचर की क्वालिटी खराब पाई जाती है तो उसे तुरन्त रिप्लेस किया जाये। हिन्दुस्थान समाचार/दिनेश/संदीप