नेहरू चिकित्सालय को मिले 25 नए ऑक्सीजन कन्सनट्रेटर

नेहरू चिकित्सालय को मिले 25 नए ऑक्सीजन कन्सनट्रेटर
nehru-hospital-receives-25-new-oxygen-concentrators

अजमेर, 07 मई(हि.स.)। कोरोना संक्रमण महामारी से बचाव के लिए जारी संघर्ष में राहत भरी खबर है कि चिकित्सालय को राज्य सरकार की ओर से 25 नए ऑक्सीजन कन्सनट्रेटर भिजवाए गए हैं। अब चिकित्सालय के पास 49 ऑक्सीजन कन्सनट्रेटर हो गए है। ये सभी ऑक्सीजन कन्सनट्रेटर मरीजों को उपलब्ध करवा दिए गए हैं। जवाहर लाल नेहरू चिकित्सालय के अधीक्षक डॉ. अनिल जैन ने बताया कि राज्य सरकार की ओर से चिकित्सालय को भिजवाए गए 25 नए ऑक्सीजन कन्सनट्रेटर मरीजों को उपलब्ध करवा दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि इस तरह हाॅस्पिटल के पास अब 49 आक्सीजन कन्सनट्रेटर हो गए हैं। इससे पहले चिकित्सालय में मेडिकल कॉलेज अजमेर के पूर्व छात्रों की ओर से 24 ऑक्सीजन कन्सनट्रेटर अमेरिका से भेजे गए थे। उन्होंने बताया कि राजकीय जवाहर लाल नेहरू चिकित्सालय, राजकीय सैटेलाइट चिकित्सालय, तथा पंचशील सीएचसी में भर्ती मरीजों के उपचार के लिए हैल्थ स्टाफ लगातार काम कर रहा है। जवाहर लाल नेहरू चिकित्सालय में 5 नए ऑक्सीजन उत्पादन प्लांट तथा 20 किलोलीटर क्षमता का नया लिक्विड ऑक्सीजन स्टोरेज प्लांट शीघ्र स्थापित कर दिया जाएगा। इसके लिए युद्धस्तर पर तैयारियां शुरू कर दी गई है। एक प्लांट स्थापना के लिए डीआरडीओ ने राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण को तुरन्त कार्य शुरू करने के निर्देश दिए हैं। गौरतलब है कि राजकीय जवाहर लाल नेहरू चिकित्सालय तथा इसे जुड़े अन्य चिकित्सालयों की ऑक्सीजन आवश्यकता को पूरा करने के लिए पूरी क्षमता के साथ कार्रवाई शुरू की जा रही है। चिकित्सालय में स्मार्ट सिटी योजना के तहत 175 सिलेण्डर प्रतिदिन क्षमता के 2 ऑक्सीजन उत्पादन प्लांट शीघ्र तैयार कर दिए जाएंगे। इस कार्य पर 3 करोड़ रुपये की लागत आएगी। जिला प्रशासन ने इसके कार्यादेश जारी किए हैं। राज्य सरकार द्वारा चिकित्सालय में 90 और 60 सिलेण्डर प्रतिदिन क्षमता के 2 नए ऑक्सीजन उत्पादन प्लांट स्वीकृत किए है। इन पर करीब 1.5 करोड़ रुपये की लागत आएगी। इनका कार्य भी शुरू किया जाएगा। इसी तरह डीआरडीओ ने भी 200 सिलेण्डर प्रतिदिन क्षमता का एक नया प्लांट जवाहर लाल नेहरू अस्पताल के लिए स्वीकृत किया है। इसके सिविल और इलेक्ट्रिकल कार्य के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण को कार्यादेश दिया गया है। एक-दो दिन में यह कार्य शुरू कर दिया जाएगा। कलक्टर प्रकाश राजपुरोहित ने बताया कि चिकित्सालय में ऑक्सीजन मेनीफोल्ड के पास 20 के.एल. क्षमता का लिक्विड ऑक्सीजन स्टोरेज प्लांट स्थापित किया जा रहा है। इसका कार्य जारी है। इसमें बाहर से आने वाली लिक्विड ऑक्सीजन का स्टोरेज किया जा सकेगा। उन्होंने बताया कि निर्माणाधीन और प्रस्तावित सभी प्लांट शुरू हो जाने से चिकित्सालयों की ऑक्सीजन उपलब्धता में बड़ी राहत मिल सकेगी। हिन्दुस्थान समाचार/संतोष/संदीप