61 हजार से अधिक प्रथम तथा 12 हजार से अधिक द्वितीय डोज वैक्सीन की लग चुकी उत्तर-पश्चिम रेलवे में

61 हजार से अधिक प्रथम तथा 12 हजार से अधिक द्वितीय डोज वैक्सीन की लग चुकी उत्तर-पश्चिम रेलवे में
more-than-61-thousand-first-and-more-than-12-thousand-second-doses-of-vaccine-have-been-administered-in-north-western-railway

जयपुर, 20 जून (हि.स.)। रेलवे द्वारा कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए हर स्तर पर विशेष प्रयास किए जा रहे हैं ताकि इस महामारी को फैलने से रोका जा सके तथा मानव जीवन पुन: पटरी पर आ सके। इसी क्रम में रेलवे द्वारा रेलकर्मियों एवं उनके परिवारजनों के लिए वैक्सीनेशन अभियान तीव्र गति के साथ संचालित किया जा रहे है। रेलवे का प्रयास है कि सभी रेलकर्मी एवं उनके परिवारजनों का शीघ्रातिशीघ्र वैक्सीनेशन किया जाए। रेलवे द्वारा राज्य सरकार के साथ समन्वय कर वैक्सीनेशन कैंप लगाकर अभियान चलाए जा रहे हैं। उत्तर पश्चिम रेलवे पर अभी तक 61 हजार से अधिक प्रथम डोज तथा तथा 12 हजार से अधिक द्वितीय डोज वैक्सीन लगाई जा चुकी है। उत्तर पश्चिम रेलवे ने सभी रेलकर्मियों एवं उनके परिवारजनों को आसानी से वैक्सीन लग सके इसके लिए विशेष पहल की है। उत्तर पश्चिम रेलवे ने केंद्रीय कर्मचारी हित निधि से रेलकर्मियों को प्राइवेट हॉस्पिटल से वैक्सीन लगवाने के लिए पांच सौ रुपये एवं रेलकर्मियों के वैक्सीन हेतु पात्र परिवारजनों के लिए अधिकतम एक हजार रुपये की सहायता राशि का प्रावधान किया है। उत्तर पश्चिम रेलवे पर कर्मचारी हित निधि से वर्ष 2021-22 के लिए कुल 13 लाख 50 हजार रुपये की राशि का आवंटन वैक्सीनेशन के लिए किया गया है इसमें प्रत्येक मंडल को 2 लाख 50 हजार रुपये तथा अजमेर कारखाना को 2 लाख रुपये एवं प्रधान कार्यालय, जोधपुर कारखाना व बीकानेर कारखाना को 50 हजार-50 हजार की सहायता राशि का आवंटन किया गया है। उत्तर पश्चिम रेलवे की इस पहल से रेलकर्मी व उनके परिवारजन कहीं भी सुविधा अनुसार प्राइवेट हॉस्पिटल में आसानी से वैक्सीनेशन करवा सकेंगे तथा कोरोना के खिलाफ लड़ाई में अपना योगदान प्रदान करने में सहयोग करेंगे। हिन्दुस्थान समाचार/राजीव/संदीप

अन्य खबरें

No stories found.