more-emphasis-on-merchant-home-delivery---district-collector
more-emphasis-on-merchant-home-delivery---district-collector
राजस्थान

व्यापारी होम डिलीवरी पर दे अधिक जोर - जिला कलक्टर

news

झुंझुनू, 04 मई(हि.स.)। जिला कलेक्टर उमर दीन खान ने जिले के व्यापारियों से कहा है कि वे कोरोना के संबंध में राज्य सरकार द्वारा जारी कोरोना गाईड लाईन की शत-प्रतिशत पालना करते हुए अपने प्रतिष्ठानों पर कम से कम भीड़ होना सुनिश्चित करें। अगर लोग सामान लेने आए, तो गोले बनाकर सोशल डिस्टेसिंग की पालना करवाऎं, बिना मास्क के किसी भी ग्राहक को बिक्री नहीं करें। उन्होंने व्यापारियों से कहा कि वे अपने स्वयं, अपने स्टाफ की सैम्पलिंग भी आवश्यक रूप से करवाएं, ताकि संक्रमण से बचा जा सकें। वहीं अन्य लोगों को भी वैक्सीनेशन के लिए प्रेरित करें। उन्होंने दुकानों के बाहर सेनेटाईजर तथा आपसी दूरी के लिए रस्सी आदि भी बांधने के निर्देश दिए। वे मंगलवार को कलेक्टे्रट सभागार में जिले के मेडिकल, किराणा के थोक एवं खुदरा व्यापारियों की बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। जिला कलेक्टर ने मेडिकल एवं किराणा व्यापारियों से अपील की है कि वे अधिक से अधिक होम डिलीवरी पर जोर दे और लोगों से अपील करें कि वे उनके प्रतिष्ठानों पर अति आवश्यक होने पर ही आवें। उन्होंने व्यापारियों से कहा है कि वे अपने प्रतिष्ठान के प्रचार से संबंधित पम्पलेट एवं विजिटिंग कार्ड का वितरण करवाऎं, जो भी ग्राहक सामान लेने आवें, उन्हें अपने प्रतिष्ठान से संबंधित विजिटिंग कार्ड देवें और आने वाले समय में ऑनलाईन खरीददारी के लिए प्रेरित करें। जिला कलक्टर ने कहा कि अति आवश्यक सेवाओं में सम्मिलित मेडिकल स्टोर के मोबाईल नम्बर प्रशासन द्वारा जारी करवाएं जाएंगे, ताकि जिलेवासी घर बैठे ही संबंधित मेडिकल से आवश्यक दवाईयों की खरीद कर सकें। इस प्रक्रिया में मेडिकल स्टोर संचालक डिमांड के अनुरूप दवाईयां तथा दवाईयों का बिल अपने स्तर से घर भिजवाएंगे, जिसका पेमेंट ग्राहक को करना होगा। जिला कलेक्टर ने बैठक के दौरान जिले में कोरोना उपचार की तैयारियों के संबंध में 2 हजार बैड की व्यवस्था के लिए भामाशाहों के सहयोग करने की भी अपील की। उन्होंने कहा कि जो भी भामाशाह सहयोग करना चाहता है वो बेड, ऑक्सीजन सिलेण्डर, वेन्टीलेटर, ऑक्सीमीटर, ऑक्सीजन कन्सीटेटर, दवाईयों सहित अन्य चिकित्सा उपकरण के लिए सहयोग कर सकते हैं। इसके लिए अतिरिक्त जिला कलक्टर एवं वाणिज्य कर विभाग के संयुक्त आयुक्त से सम्पर्क किया जा सकता है। हिन्दुस्थान समाचार / रमेश सर्राफ/ ईश्वर