सांसद व विधायक ने शाहपुरा पहुंच कर भी उद्घाटन से किया इन्कार
सांसद व विधायक ने शाहपुरा पहुंच कर भी उद्घाटन से किया इन्कार
राजस्थान

सांसद व विधायक ने शाहपुरा पहुंच कर भी उद्घाटन से किया इन्कार

news

भीलवाड़ा, 31 जुलाई (हि.स.)। जिले की शाहपुरा नगर पालिका के नवनिर्मित कार्यालय के उद्घाटन कार्यक्रम एक बार फिर तमाशबीन बन गया। कार्यालय भवन के लिए उद्घाटन करने के लिए औपचारिक रूप से बुलाये गये शाहपुरा विधायक कैलाश मेघवाल ने शाहपुरा पहुंचने के बाद भी अनावरण पट्टिका पर अपने नाम के उपर कांग्रेस के नेताओं का नाम होने से उद्घाटन करने से इंकार कर दिया। सांसद सुभाष बहेड़िया ने अपने राजनीतिक गुरू कैलाश मेघवाल का समर्थन करते हुए कार्यक्रम में जाने से इंकार कर दिया। दोनो अतिथियों के कार्यक्रम में नहीं पहुंचने पर पालिका अध्यक्ष किरण तोषनीवाल ने पूर्व विधायक महावीर जीनगर के संग पालिका भवन का उद्घाटन कर आज से ही प्रशासनिक कार्यो के लिए नये भवन को संचालित करने के निर्देश दिये। उधर शहर में चर्चा है कि पालिका ने विधायक मेघवाल को भवन का उद्घाटन करने के लिए विधिवत निमंत्रण बुलाया तो फिर उद्घाटन उन्होंने क्यों नहीं किया। विधायक कैलाश मेघवाल ने पत्रकारों को बताया कि पालिका का शिष्टमंडल उनके पास दो दिन पूर्व आया। सहमति देने के बाद पालिका ने प्रोटोकॉल का उल्लंघन करते हुए बिना सहमति देने वाले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, स्वायत शासन मंत्री शांति धारीवाल, जिला प्रभारी मंत्री अर्जुन बामनिया के नाम जबरदस्ती ही अनावरण पट्टिका पर अकिंत करा दिये। उनका कार्यक्रम में न आना, उनकी सहमति को नहीं दिखाना तथा अकारण कांग्रेस नेताओं का नाम लिखने के कारण विधायक मेघवाल ने उद्घाटन करने से इंकार कर दिया। विधायक मेघवाल ने तो यहां तक कहा कि किसी विधायक को आमंत्रित कर प्रोटोकॉल का उल्लंघन करना विधायक का अपमान करना है। इस संबंध में वो जयपुर पहुंच कर संबंधित अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए सरकार को पत्र लिखेगें तथा मुख्यमंत्री, स्वायत शासन मंत्री व प्रभारी मंत्री से भी पूंछेगें कि क्या उन्होंने काया्रलय भवन का उद्घाटन करने या शाहपुरा आने की सहमति दी। हिन्दुस्थान समाचार/मूलचन्द पेसवानी-hindusthansamachar.in