निर्वाचित महापौर एवं अन्य पार्षदों के अवैधानिक निलंबन के विरोध में दिया ज्ञापन

निर्वाचित महापौर एवं अन्य पार्षदों के अवैधानिक निलंबन के विरोध में दिया ज्ञापन
memorandum-given-against-the-illegal-suspension-of-elected-mayor-and-other-councilors

अजमेर, 11 जून(हि.स.)। भारतीय जनता पार्टी अजमेर शहर द्वारा राज्यपाल के नाम अजमेर जिलाधीश प्रकाश राजपुरोहित को राज्य की कांग्रेस सरकार द्वारा कानून का दुरुपयोग कर निर्वाचित महापौर एवं अन्य पार्षदों के अवैधानिक निलंबन के विरोध में ज्ञापन दिया गया। ज्ञापन में बताया कि भारतीय जनता पार्टी का जयपुर ग्रेटर नगर निगम में बोर्ड बनने के बाद से ही लगातार विकास एवम अन्य सभी कार्यों में लगातार राज्य सरकार द्वारा बाधा पहुंचाने का कार्य किया जा रहा था, उच्च न्यायालय के आदेश के बाद ही नगर निगम में गठित कमेटियों के चेयरमैन शपथ ले पाये। वर्तमान में जयपुर ग्रेटर नगर निगम क्षेत्र की सफाई व्यवस्था बीवीजी कंपनी को दी गई थी जिसके द्वारा सफाई कार्य ठीक से नहीं किया जा रहा था। पूरे जयपुर ग्रेटर नगर निगम क्षेत्र में विभिन्न स्थानों पर गंदगी के ढेर लगे हुए थे, कंपनी द्वारा हड़ताल कर दी गई जिससे कोविड-19 महामारी के दौरान अन्य बीमारियां फैलने का खतरा होने लगा जांच अधिकारी द्वारा जो निर्णय दिया गया है वह विधि विरुद्ध है व राज्य सरकार के दबाव में लिया गया है। महापौर सौम्या गुर्जर द्वारा जो बैठक अपने कक्ष में बुलाई गई थी उसमें आयुक्त का बीच में उठ कर जाना राज कार्य में बाधा की श्रेणी में आता है लेकिन जांच अधिकारी ने इन तथ्यों पर कोई निष्कर्ष नहीं दिया है। आज अजमेर जिलाधीश को ज्ञापन देने वाले शिष्ट मण्डल मे अजमेर सांसद भागीरथ चौधरी ,अजमेर उत्तर विधायक वासुदेव देवनानी, अजमेर दक्षिण विधायक अनिता भदेल, भाजपा शहर जिला अध्यक्ष डॉ प्रियशील हाड़ा, ओबीसी मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष ओमप्रकाश भड़ाना, महापौर ब्रजलता हाडा ,उपमहापौर नीरज जैन, जिला महामंत्री संपत सांखला, जिला मीडिया प्रभारी अनीश मोयल, रचित कच्छावा, विक्रम सिंह आदि उपस्थित रहे। हिन्दुस्थान समाचार/संतोष/संदीप