दुग्ध उत्पादकों को 15 अगस्त से पहले मिलेगा मई व जून का बकाया भुगतान
दुग्ध उत्पादकों को 15 अगस्त से पहले मिलेगा मई व जून का बकाया भुगतान
राजस्थान

दुग्ध उत्पादकों को 15 अगस्त से पहले मिलेगा मई व जून का बकाया भुगतान

news

अजमेर, 30 जून(हि.स)। अजमेर डेयरी के दूध उत्पादकों को मई एवं जून माह का बकाया भुगतान लगभग 60 करोड़ रुपये 15 अगस्त से पूर्व कर दिया जाएगा । अजमेर डेयरी के संचालक मंडल की 135 वीं बैठक में अध्यक्ष रामचंद्र चौधरी ने यह घोषणा की। चौधरी ने बताया कि विगत एक पखवाड़े से दूध, घी एवं सरप्लस दूध अन्य संघों को बेचने से प्रतिदिन लगभग सवा सौ करोड़ रुपए की आय हो रही है । यही क्रम आगे और बढ़ने की संभावना है, जिससे पशुपालकों के 6 सप्ताह का पेमेंट 15 अगस्त से शुरू किया जाना प्रस्तावित है। विगत 4 माह में दूध एवं दूध के उत्पाद की बिक्री प्रतिदिन 60 से 70 लाख के बीच ही हो पा रही थी । इसके कारण पशुपालकों का भुगतान 60 से 70 करोड़ रुपए बकाया हो गया है। इसी प्रकार गत दिनों मार्च एवं अप्रेल माह का लगभग 70 करोड़ का भुगतान ग्रामीण बैंक बड़ौदा से 15 करोड़ का ऋण लेकर एवं मुख्यमंत्री सहायता कोष के 7 करोड़ रूपए मिलने से तथा अन्य स्त्रोतों से पैसों की व्यवस्था करके किसानों को फरवरी और मार्च का भुगतान किया गया । इस दौरान अजमेर डेयरी में नया निर्माणाधीन प्लांट के पेटे मई माह में 5 करोड़ का भुगतान किया गया है एवं वर्तमान जून माह का 5 करोड़ का भुगतान जारी कर दिया जाएगा। इस प्रकार संघ द्वारा एनडीडीबी निर्माण पेटे के आज तक का 300 करोड़ रुपए का भुगतान कर दिया गया है। दूध उत्पादों के भाव में 25 प्रतिशत गिरावटः चौधरी ने बताया कि कोरोना के कारण विगत 4 माह में दूध एवं दूध उत्पाद के भंडार की सहकारी जगत में भरमार हो रखी है जिससे दूध एवं दूध के उत्पादों के भाव 25 प्रतिशत की गिरावट आ गई है। कोरोना के कारण जिले में सावर्जनिक आवागमन के साधन सुचारू रूप से प्रारम्भ नहीं हुए हैं अतः संघ में कार्यरत ठेका श्रमिकाें को आने जाने में आर्थिक व्यय हो रहा है इसके लिए संघ ने ठेका श्रमिकों को 50 रुपए प्रतिदिन का विशेष अलाउंस देने का निर्णय लिया है। डेयरी के 60 हजार पशु पालकों को किसान क्रेडिट कार्ड योजना का मिलेगा लाभः चौधरी ने बताया कि किसान क्रेडिट कार्ड की तरह भारत सरकार ने पशु पालकों के लिए भी क्रेडिट योजना आरम्भ की है इसके अन्तर्गत पशुपालकों को तीन प्रतिशत ब्याज पर एक लाख 60 हजार की अतिरिक्त राशि उपलब्ध करवायी जाएगी। भूमिहीन पशु पालकों को भी इसका लाभ मिलेगा। पशुओं का बीमा कराने के उपरान्त इससे लाभान्वित हुआ जा सकता है। अजमेर डेयरी अपने स्तर पर लगभग 60 हजार पशु पालक सदस्यों के आवेदन भरवा रहा है। हिन्दुस्थान समाचार/संतोष/संदीप-hindusthansamachar.in