कमेटी बनाकर करवाएं निर्माण कार्यों की जांच - विधायक गुढ़ा

कमेटी बनाकर करवाएं निर्माण कार्यों की जांच - विधायक गुढ़ा
make-a-committee-and-get-the-construction-works-investigated---mla-gudha

झुंझुनू, 14 जून(हि.स.)। पूर्व मंत्री व उदयपुरवाटी विधायक राजेन्द्र सिंह गुढ़ा के तेवर सार्वजनिक निर्माण विभाग पर खासे तीखे नजर आए। उन्होंने काटली नदी पर बनी पुलिया, सड़क निर्माण समेत अन्य कार्यों पर नाखुशी जताते हुए कहा कि इन कार्यों की गुणवत्ता की जांच के लिए जिला कलेक्टर सानिव सार्वजनिक निर्माण विभाग के सेवानिवृत अभियंताओं और जनप्रतिनिधियों को शामिल करते हुए एक जांच कमेटी बनाएं, जो सानिवि के निर्माण कार्यों की गुणवत्ता की जांच करे। जिला कलेक्टर उमरदीन खान ने इस मांग पर सकारात्मक आश्वासन भी दिया। वहीं सानिवि के अधीक्षण अभियंता एन.के. जोशी ने सफाई देते हुए बताया कि निर्माण कार्यों का गारंटी पीरियड साढ़े तीन वर्ष से बढ़ाकर पांच वर्ष किया गया है। गुढ़ा सोमवार को जिला कलेक्ट्रेट सभागार में जिला कलेक्टर उमरदीन खान की अध्यक्षता में आयोजित पेयजल, विद्युत आपूर्ति और सार्वजनिक निर्माण विभाग से संबंधित मुद्दों की समीक्षा बैठक में बोल रहे थे। बैठक में विधायक गुढ़ा ने अगले 20 दिन तक पानी के टैंकर की सप्लाई बढ़ाने की बात कही। गौरतलब है कि जिले के प्रभारी मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने पेयजल के मुद्दे पर गंभीरता दिखाते हुए नियमित समीक्षा बैठक करने के निर्देश दिए थे। बैठक में सांसद नरेंद्र खीचड़, पूर्व मंत्री एवं खेतड़ी विधायक डॉ. जितेन्द्र सिंह, मंडावा विधायक रीटा चौधरी, सूरजगढ़ विधायक सुभाष पूनिया, मौजूद रहे। बैठक में जनता जल योजना के बारे में जिला परिषद सीईओ जयप्रकाश नारायण ने विस्तार से जानकारी दी। बैठक में जल जीवन मिशन, ट्यूबवैल्स की खुदाई और चालू करने की स्थिति की समीक्षा की गई। जिला कलक्टर उमरदीन खान ने जलदाय विभाग के अभियंताओं और अधिकारियों को कार्य में तेजी लाने के निर्देश देते हुए अगले सात दिन में बकाया प्रकरण निपटाने के लिए कहा। वहीं सार्वजनिक निर्माण विभाग के कार्यों में गुणवत्ता की जांच का मुद्दा भी विधायकों ने उठाया। बैठक में मंडावा विधायक रीटा चौधरी ने राणीसर गांव में पेयजल आपूर्ति में संबंधित ठेकेदार की मनमानी को लेकर शिकायत करते हुए मांग रखी कि ऐसे ठेकेदारों पर कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा कि ठेकेदार अधिकारियों पर हावी नहीं हो। उन्होंने कई ग्राम पंचायतों में पीएचईडी द्वारा मोटर बदले जाने पर वापस नहीं दिए जाने का मुद्दे पर भी अधिकारियों से स्पष्टीकरण मांगा। वहीं सूरजगढ़ विधायक सुभाष पूनियां ने कहा कि विधायक कोष से स्वीकृत राशि से बने ऐसे कूएं, जो ड्राई निकले हैं, उनकी सामग्री अन्य जगह पर शिफ्ट की जानी चाहिए। उन्होंने बूंद-बूंद सिंचाई के कनेक्शन लंबित होने पर रोष जताते हुए जल्द निस्तारण करवाने की मांग रखी। उन्होंने गोठ गांव में पेयजल के लिए पिछले साल स्वीकृत हुए 25 लाख रुपए की राशि के कार्य भी पूरे नहीं होने की शिकायत की। जिस पर जिला कलक्टर उमरदीन खान ने जलदाय विभाग के अधीक्षण अभियंता से जवाब मांगा और कार्य जल्द पूरा करने के निर्देश दिए। खेतड़ी विधायक और पूर्व मंत्री डॉ. जितेन्द्र सिंह ने कहा कि ऐसी शिकायतें मिली हैं कि ट्यूबवैल की खुदाई उतनी नहीं होती है, जितनी होनी चाहिए। अधिकारी और अभियंता ठेकेदारों पर नियंत्रण करें। हिन्दुस्थान समाचार / रमेश सर्राफ / ईश्वर