शराब ठेकेदार की दिन दहाड़े गोली मारकर हत्या

शराब ठेकेदार की दिन दहाड़े गोली मारकर हत्या
liquor-contractor-shot-dead-in-broad-daylight

कोटा, 24 मार्च (हि. स.)। अनन्तपुरा थाना क्षेत्र के ट्रांसपोर्ट नगर में बुधवार सुबह बाइक सवार अज्ञात बदमाशों ने एक शराब ठेकेदार की ताबड़तोड़ गोली मारकर हत्या कर दी। हत्या के पीछे पुरानी रंजिश बताई जा रही है, पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर आरोपितों की तलाश शुरू कर दी। अनन्तपुरा थानाधिकारी देवेश भारद्वाज ने बताया कि गोबरिया बॉडी ट्रांसपोर्ट नगर निवासी शराब ठेकेदार जितेंद्र गिरी उर्फ जीतू टेंशन पुत्र बालू गिरी पर घर के बाहर बाइक पर आए बदमाशों ने पिस्टल से ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। शराब ठेकेदार के बाए कंधे के नीचे गोली लगने से वह लहूलुहान होकर लड़खड़ाता हुआ गिर गया। आरोपित बदमाश वारदात को अंजाम देने के बाद मौके से फरार हो गए। दिन दहाड़े गोलियां चलने की आवाज से इलाके में दहशत का माहौल फैल गया। गोलियों की आवाज सुन जितेंद्र गिरी का छोटा भाई कालू घर से बाहर आया तो बड़ा भाई खून में लथपथ पड़ा हुआ था वह अपने बड़े भाई को लेकर एमबीएस अस्पताल पहुुंच, जहां डॉक्टरों ने जांच के बाद उसे मृत घोषित कर दिया। शराब ठेके को लेकर भतीजे ने दो साल पहले चचेरे भाई की की थी हत्या: मृतक जितेंद्र गिरी शराब का कारोबार करता था । उसने ट्रांसपोर्ट नगर के ठेका उसके भतीजे दीपक नायक को सौंपा था। उसने ने शराब की आड़ अवैध शराब बेचने का धंधा शुरू कर दिया था। बुधराज गुर्जर इलाके में कई वारदातें कर चुका था और उसके खिलाफ पुलिस हिस्ट्रीशीट खोलने की तैयारी में थी, जिसके चलते उसका आसपास के क्षेत्र में खासा खौफ था, इसका फायदा उठाने के लिए और शराब के अवैध धंधे को बढ़ाने के लिए दीपक ने बुधराज के साथ हाथ मिलाया और दोनों ने 10-12 लड़कों को जोड़कर बकायदा गैंग बना ली। यह गैंग धड़ल्ले से अवैध शराब बेच रही थी। ठेके में घाटा होने लगा तो जितेंद्र गिरी ने दीपक नायक को ठेके से हटा दिया। जिसके चलते दीपक नायक जितेंद्र गिरी उर्फ जीतू टेंशन के बीच रंजिश चल रही थी, तब से दीपक अपने चाचा जितेंद्र को ठिकाने लगाने की फिराक में था। लेकिन मौका नहीं मिलने पर उसने 3 जून 2019 को खौफनाक वारदात की साजिश रचते हुए साथियों के साथ मिलकर अपने चचेरे भाई अजय की चाकू और तलवारों से हमला कर हत्या कर दी थी। हिन्दुस्थान समाचार/राकेश/संदीप

अन्य खबरें

No stories found.