last-day-of-fundraising-campaign-on-sunday-surrender-to-maghpurnima-at-six-places
last-day-of-fundraising-campaign-on-sunday-surrender-to-maghpurnima-at-six-places
राजस्थान

निधि संग्रह अभियान का रविवार को अंतिम दिन, छह स्थानों पर माघपूर्णिमा तक समर्पण

news

जयपुर, 20 फरवरी (हि.स.)। श्रीरामजन्मभूमि अयोध्या में बनने वाले भव्य राम मंदिर के लिए मकर संक्रान्ति, 15 जनवरी से विश्व का अब तक का सबसे बड़ा जनसंपर्क अभियान का शंखनाद हुआ था जो अब संपन्न होने जा रहा है। प्रथम पखवाड़े 15 से 31 जनवरी अभियान के प्रथम चरण लिया। जिसमें समाज के ऐसे बंधुओं से मिले जो बड़ी राशि का समर्पण कर सकते हैं और दूसरे चरण में 31 जनवरी से 21 फरवरी तक प्रत्येक रामभक्त परिवार से व्यक्तिशः संपर्क का लक्ष्य है। माघपूर्णिमा 27 फरवरी 2021 तक निधि समर्पण अभियान के दौरान प्रयत्न के बावजूद संपर्क से रह गए रामभक्त समर्पणकर्ताओं के लिए जयपुर में छ: स्थानों पर निधि स्वीकार करने की व्यवस्था रखी है। विहिप के जयपुर प्रांत प्रचार प्रमुख अभिषेक सिंह ने बताया कि प्रान्त में आने वाले 24 जिलों में 5200 टोलियां के माध्यम से संपर्क अभियान चलाया गया। प्रत्येक टोली में 3-5 कार्यकता थे। इन टोलियों के माध्यम से प्रांत में आने वाले 12 हजार 600 गांव में घर घर संपर्क का लक्ष्य लगभग पूर्णता की ओर है। निधि समर्पण अभियान समिति ने समाज के लाखों सेवाभावी व समर्पित बंधु विशेषकर भगिनियों तथा संत समाज व सामाजिक व व्यापारिक संस्थाओं को को भी अभियान में जोड़ा हुआ है। 990 डिपोजिटरों ने जमा करवाई राशि टोलियों के माध्यम से प्रतिदिन एकत्रित होने वाली राशि को बैंक में जमा करवाया जा रहा है। इनको श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास द्वारा अधिकृत बैंक कोड दिए हैं। इस कोड के माध्यम से वह अपने आस पास के समाज से एकत्र राशि को सुगमता से निकटतम बैंक शाखा में जमा करा रहे हैं। 22 से 27 फरवरी माघ पूर्णिमा तक कार्यालयों में अभियान के प्रांत सह संयोजक गेंदालाल ने बताया कि श्रीराम मंदिर निर्माण में निधि समर्पण के लिए जयपुर में छह स्थानों पर सम्पर्क कर श्रीराम मंदिर निर्माण में सहयोग व्यक्तिशः समर्पण राशि जमा करवाई जा सकेगी। इनमें भारत माता मंदिर जमनालाल बजाज मार्ग सी स्कीम जयपुर, भारती भवन न्यू कॉलोनी एमआई रोड जयपुर, स्वास्तिक भवन अंबाबाडी जयपुर, सांगानेर और किसान भवन, महंत स्वामी मार्ग वैशाली नगर जयपुर में निधि जमा कराई जा सकती है। हिन्दुस्थान समाचार/ ईश्वर/संदीप

AD
AD