kiratu-the-national-vice-president-of-intuc-said-the-central-government-acted-as-a-scissor-on-the-concessions-for-senior-citizens-on-railway-travel
kiratu-the-national-vice-president-of-intuc-said-the-central-government-acted-as-a-scissor-on-the-concessions-for-senior-citizens-on-railway-travel
राजस्थान

इंटक के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष किराडू बोले ; वरिष्ठ नागरिकों को रेलयात्रा में मिलने वाली रियायत पर कैंची चलाने का काम किया केंद्र सरकार ने

news

बीकानेर, 23 फरवरी (हि.स.)। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण नहीं फैले इसके लिए देशभर मेें लगाए गए लॉकडाउन के बाद पूरे हिन्दुस्तान में रेल संचालन ठप हो गया था। रेल मंत्रालय ने कोरोना से बचाव के दौरान संचालन ठप होने से हुए नुकसान को पूरा करने के लिए किराए में दी जाने वाली रियायत खत्म कर दी गई। वरिष्ठ नागरिकों के साथ ही अन्य कई श्रेणियों में रेलयात्रा के दौरान मिलने वाली रियायत अब बीती बात हो गई है। भारतीय राष्ट्रीय ट्रांसपोर्ट कर्मचारी फैडरेशन (इंटक) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष हेमंत किराडू ने मंगलवार को केंद्र सरकार से मांग की है कि रेलवे वरिष्ठ नागरिकों की अनदेखी न करे और रेलयात्रा के दौरान किराए में रियायत पहले की भांति दी जाए। किराडू ने कहा कि रेलवे ने वरिष्ठ नागरिकों की यात्रा के दौरान मिलने वाली रियायती टिकटों पर कैंची चलाने का काम किया है। जिसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी, रेल मंत्री पीयूष गोयल से मांग की है कि न केवल वरिष्ठ नागरिकों बल्कि अन्य श्रेणी में भी टिकटों पर मिलने वाली रियायतों को शीघ्रातिशीघ्र चालू की जाए ताकि कुछ राहत मिल सके। हिन्दुस्थान समाचार/राजीव/संदीप