55 दिन के इंतजार के बाद झालाना लेपर्ड सफारी शुरू, पहले दिन 28 पर्यटकों ने की सफारी

55 दिन के इंतजार के बाद झालाना लेपर्ड सफारी शुरू, पहले दिन 28 पर्यटकों ने की सफारी
jhalana-leopard-safari-started-after-waiting-for-55-days-28-tourists-did-safari-on-the-first-day

जयपुर, 11 जून (हि.स.)। राजधानी जयपुर का भ्रमण करने के लिए आने वाले पर्यटकों के लिए राहत की खबर है। झालाना लेपर्ड रिजर्व और स्मृति वन पर्यटकों के लिए एक बार फिर से खोल दिए गए हैं। करीब 55 दिन के इंतजार के बाद शुक्रवार को पर्यटक लेपर्ड सफारी करने पहुंचे। झालाना लेपर्ड सफारी सिर्फ सुबह की पारी में पर्यटकों के लिए शुरू की गई है। झालाना लेपर्ड रिजर्व हमेशा से ही पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र रहा है। यहां दो पारी में लेपर्ड सफारी करवाई जाती है। कोरोना काल में सफारी को 17 अप्रैल से बंद कर दिया गया था। करीब 2 महीने बाद लेपर्ड सफारी केवल एक पारी में शुरू की गई है। सुबह की पहली पारी में 5.45 से 8.30 बजे तक लेपर्ड सफारी करवाई जा रही है। सफारी शुरू होने के पहले दिन शुक्रवार को करीब 28 पर्यटकों ने लेपर्ड सफारी का लुत्फ उठाया। फिलहाल 10 जिप्सियां पर्यटकों के लिए हैं। प्रत्येक जिप्सी में 6 पर्यटक सफारी कर सकते हैं। पर्यटकों के लिए ऑनलाइन बुकिंग की व्यवस्था रखी गई है, ताकि कोरोना संक्रमण से भी बचाव हो सके। झालाना लेपर्ड रिजर्व के क्षेत्रीय वन अधिकारी जनेश्वर चौधरी ने बताया कि 17 अप्रैल को झालाना लेपर्ड सफारी को बंद कर दिया गया था। कोविड प्रोटोकॉल की पालना के साथ शुक्रवार को फिर से सफारी शुरू की गई है। पर्यटक वाहनों को सफारी से पहले सैनेटाइज करवाया गया है। पर्यटकों से अपील की जा रही है कि मास्क और सैनेटाइजर का उपयोग करें। लेपर्ड सफारी दो पारियों में होती थी। फिलहाल एक पारी में सफारी शुरू की गई है। शाम को 5 बजे के बाद कफ्र्यू रहता है, इसलिए शाम के समय सफारी फिलहाल बंद रखी गई है। शुक्रवार को जिप्सियां सफारी के लिए जंगल में गईं थीं, जिनमें करीब 28 पर्यटकों ने लेपर्ड सफारी का आनंद लिया। लेपर्ड सफारी के दौरान पर्यटकों को मादा लेपर्ड की साइटिंग हुई, जिससे पर्यटक काफी उत्साहित हुए। पहले 5 व्हीकल ऑनलाइन और 5 ऑफलाइन बुकिंग के लिए होते थे, लेकिन अब सभी 10 व्हीकल्स को ऑनलाइन कर दिया गया है। हिन्दुस्थान समाचार/रोहित/ ईश्वर