सिंगल यूज प्लास्टिक पर प्रतिबंध लगाने के लिए विकल्प तलाशने के निर्देश

सिंगल यूज प्लास्टिक पर प्रतिबंध लगाने के लिए विकल्प तलाशने के निर्देश
instructions-to-explore-options-for-banning-single-use-plastics

जयपुर, 27 मई(हि.स.)। मुख्य सचिव निरंजन आर्य ने कहा कि केन्द्र सरकार के प्रस्ताव के अनुसार राज्य में एकल उपयोग वाले प्लास्टिक (सिंगल यूज प्लास्टिक) पर प्रतिबंध लगाने के लिए प्रभावित समूहों से चर्चा करें, अनावश्यक उपयोग को कड़ाई से प्रतिबंधित करें और जहां उपयोग जरूरी है उसके लिए अन्य विकल्प तलाशें। मुख्य सचिव की अध्यक्षता में गुरुवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित बैठक में केन्द्र सरकार की ड्राफ्ट अधिसूचना के संदर्भ में राज्य में सिंगल यूज प्लास्टिक पर प्रतिबंध लगाने पर चर्चा की गई। मुख्य सचिव आर्य ने कहा कि पर्यावरण के दृष्टिकोण से सिंगल यूज प्लास्टिक पर प्रतिबंध लगाना जरूरी है। राज्य में पहले से ही कई प्लास्टिक उत्पाद प्रतिबंधित हैं। सरकारी कार्यालयों में 2019 से कड़ाई से प्लास्टिक के उपयोग पर रोक लगाई गई है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार की ड्राफ्ट अधिसूचना के अनुसार आगामी 1 जनवरी से प्रतिबंध लगना प्रस्तावित है। इसके बेहतर क्रियान्वयन के लिए सभी पहलुओं पर विचार करना जरूरी है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि प्लास्टिक उत्पादकों एवं उपभोक्ताओं के समूहों के साथ प्रतिबंध से होने वाले प्रभाव पर चर्चा करें। उन्होंने कहा कि कार्ड एवं पैकेट्स पर चढ़ाई जाने वाली अनावश्यक रैपिंग एवंपैकिंग फिल्म्स जैसे उपयोग को प्रतिबंधित करने के लिए किसी विकल्प की जरूरत नहीं है, लेकिन जहां प्लास्टिक का उपयोग जरूरी है, उसके स्थान पर दूसरे विकल्प तलाश करने होंगे। वन एवं पर्यावरण विभाग की प्रमुख शासन सचिव श्रीमती श्रेया गुहा ने केन्द्र सरकार की ओर से गत 11 मार्च को जारी ड्राफ्ट अधिसूचना के प्रावधानों से अवगत कराया। उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार ने दो चरणों में सिंगल यूज प्लास्टिक पर प्रतिबंध लगाने का प्रस्ताव रखा है। इसके तहत सभी एकल उपयोग वाली प्लास्टिक वस्तुओं का निर्माण, आयात, भंडारण, वितरण, बिक्री और उपयोग नियमों के तहत निषिद्ध होगा। उन्होंने बताया कि पहले एक जनवरी 2022 से कुछ प्लास्टिक की चीजें जैसे प्लास्टिक के झंडे, गुब्बारे और कैंडी स्टिक और फिर एकजुलाई 2022 से प्लेट, कप, ग्लास, कटलरी जैसे कांटे, चम्मच, रैपिंग,पैकिंग फिल्म्स, निमंत्रण कार्ड, सिगरेट के पैकेट जैसे प्लास्टिक पर बैन लगाना प्रस्तावित है। हिन्दुस्थानन समाचार/संदीप/ ईश्वर

अन्य खबरें

No stories found.