कोरोना संकट काल में कोई भी बेजुबान पशु-पक्षी नहीं रहेगा भूखा

कोरोना संकट काल में कोई भी बेजुबान पशु-पक्षी नहीं रहेगा भूखा
in-the-corona-crisis-no-lifeless-animals-and-birds-will-starve

धौलपुर, 07 मई (हि.स.)। कोरोना संकट काल में धौलपुर जिले में बेजुबान पशु और पक्षियों के लिए चारे और दाने पानी की व्यवस्थाएं की गईं हैं। जिला प्रशासन की ओर से इसके लिए बकायदा अलग अलग स्थानों पर पांईट बनाकर वहां पर चाारे की व्यवस्था की गई है। प्रशासन के निर्देशन में वालिंटीयर्स इस नेक काम में अपना महती भूमिका निभा रहे हैं। इस अनूठी मुहिम को अंजाम देने वाले जिला कलेक्टर आरके जायसवाल ने बताया कि जब सभी लोग लॉकडाउन जैसी हालातों के चलते अपने-अपने घरों में बंद हैं। किसी का कहीं भी आना जाना नहीं हो पा रहा है। ऐसी परिस्थिति में मूक पशु-पक्षी भी भूख प्यास से व्याकुल हो रहे हैं। इस संकट के समय में इंसान के साथ साथ गाय, कुत्ते, बंदर, गिलहरी, पक्षी सहित सभी मूक पशु पक्षियों की पीड़ा को महसूस करते हुए जिला प्रशासन द्वारा चारा, पानी एवं दाना आदि के व्यापक प्रबंध किए गए हैं। उन्होंने पशु-पक्षी प्रेमियों सहित आमजन से पूर्ण सहयोग की अपील करते हुए संकट की इस घड़ी में मूक पशु पक्षियों की सेवा का आवान्ह किया है। उन्होंने कहा कि अपने अपने घरों के आसपास परिंडे भी लगवाएं, ताकि पक्षी भी प्यास बुझा सकें। उन्होंने बताया कि पक्षियों के दाना-पानी की भी व्यवस्थाए सुनिश्चित करते हुए 25 प्रमुख स्थानों वनखंडी मंदिर, पीजी कालेज कैंपस, मचकुंड कबीर आश्रम,मौनी सिद्ध गुफा, शेरगड किला, छावनी मंदिर, चौपड़ा मंदिर, श्री संतोषी माता मंदिर, पेचवाले हनुमान, मंशापूर्ण हनुमान मंदिर, नर्सरी के शनि मंदिर, श्रीराधा बिहारी मंदिर, सीटीओ कार्यालय, शिक्षा संकुल क्षेत्र तथा झोरवाली माता मंदिर पर प्रबंध किए गए हैं। इसी प्रकार जग्गा होम्पोपैथिक क्लीनिक, महात्मानंद की बगीची,गंगाबाई की बगीची, तोप तिराहा, गांधी पार्क, अचलेश्वर महादेव मंदिर आदि पर पीने के लिए पानी हेतु जनसहयोग से परिंडे भी लगवाए जा रहे हैं और दाना भी डलवाया जा रहा है। इसके साथ ही 26 स्थानों पर चारे की व्यवस्था पशुओं के लिए की गई है। साथ ही आमजन से भी अपील की जाती है कि संकट की इस घड़ी में मूकपक्षियों के दाना पानी की व्यवस्था अपने अपने घरों, वृक्षों पर अवश्य ही कर पुण्य के भागी बनें। हिन्दुस्थान समाचार / प्रदीप/ ईश्वर