कोरोना की आपदा में पीडित परिवारों को संबल के लिए घर-घर होगा हनुमान चालीसा का पाठ

कोरोना की आपदा में पीडित परिवारों को संबल के लिए घर-घर होगा हनुमान चालीसा का पाठ
hanuman-chalisa-recited-to-the-families-of-the-victims-of-corona-disaster

जयपुर, 07 मई (हि.स.)। कोरोना के दंश से पीडित समाज में बने भय के वातावरण को कम करने के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की परिवार प्रबोधन गतिविधि द्वारा पूज्य संतों के मार्गदर्शन एवं नेतृत्व में शनिवार को प्रदेशभर में हनुमान चालीसा का पाठ किया जाएगा। संघ के क्षेत्र प्रचारक निंबाराम ने शुक्रवार को हनुमान चालीसा पाठ के पोस्टर का विमोचन किया। इस अवसर पर महानगर परिवार प्रबोधन प्रमुख पंडित सुरेन्द्र भी उपस्थित रहे। कुटुंब प्रबोधन गतिविधि के प्रांत प्रमुख संजीव भार्गव ने बताया कि महामारी के इस दौर में कोरोना गाइडलाइन, सावधानी, औषधि के साथ सच्चे मन से की गई प्रार्थना संकट से मुक्ति का साधन है। अत: हम सब मिलकर सर्व हिताय-सर्व जनाय की भावना से निश्चित समय पर सामूहिक हनुमान चालीसा का पाठ कर एक व्यापक सुरक्षा श्रृंखला का निर्माण करेंगे। कई स्थानों पर हनुमान भक्तों ने सवा लाख हनुमान चालीसा सिद्धमंत्र का जाप का लक्ष्य तय किया है। यह अनुष्ठान सायं ठीक 7 बजे पुष्य नक्षत्र 8 मई 2021 शनिवार को अपने परिवार के साथ घर पर आयोजित किया जाएगा। श्री शिवपूजन अपने यथायोग्य सामथ्र्य से किया जा सकेगा। सामूहिक हनुमान चालीसा पाठ की तैयारियों के लिए शुक्रवार को कुटुंब प्रबोधन गतिविधि की वर्चुअल बैठक हुई। बैठक में प्रांत प्रचारक डॉ. शैलेन्द्र के अलावा प्रांत विभाग एवं कुटुंब प्रबोधन गतिविधि के जिला संयोजक तक की भागीदारी रही। चर्चा में सामने आया कि गत वर्ष की तरह इस वर्ष भी कोरोना महामारी के कारण समाज में भय का वातावरण बना हुआ है। इस भय के वातावरण से स्वयंसेवकों एवं समाज के अन्य बंधुओं को बाहर निकालने के लिए सप्ताह में दो दिन मंगलवार व शनिवार को हनुमान चालीसा का सामूहिक पाठ प्रत्येक घर में परिवार के सभी सदस्य सामूहिक रूप से एक स्थान पर बैठकर करने का निर्णय किया गया। यह कार्य घर-घर के प्रत्येक परिवार में संपन्न करवाने के लिए संघ के खंड, मंडल और जिला के सभी कार्यकर्ताओं का सहयोग लेने का निर्णय किया गया। इसके अलावा संघ के सम वैचारिक संगठन विश्व हिंदू परिषद शिक्षक संघ, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद एवं सामाजिक संगठन, मंदिर समितियां, शहरी क्षेत्र में विकास समितियां अन्य धार्मिक संगठन जैसे गायत्री परिवार, बाबा रामदेव आदि के माध्यम से अनुष्ठान करवाए जा सकेंगे। हिन्दुस्थान समाचार/रोहित/संदीप