कोविड महामारी के कारण नहीं होगी ईद की नमाज

कोविड महामारी के कारण नहीं होगी ईद की नमाज
eid-prayers-will-not-be-held-due-to-kovid-epidemic

अजमेर, 13 मई(हि.स.)। कोविड महामारी के चलते अजमेर के सूफी संत ख्वाजा मोईनुद्दीन हसर चिश्ती की दरगाह शरीफ की जामा मस्जिद व संदली मस्जिद और ईदगाह, केसरगंज में ईद की नमाज अदा नहीं की जाएगी। दरगाह नाजिम अशफाक हुसैन ने शहर काजी तौसिफ सिद्दीकी और अंजुमन सैयदजादगान के सचिव सैयद वाहीद हुसैन चिश्ती से मश्वरा कर के यह निर्णय लिया। हुसैन ने जानकारी दी की वर्तमान में कोविड-19 की वजह से राजस्थान सरकार में प्रदेश में महामारी रेड अलर्ट लाकडाउन लगा रखा है। इसके साथ ही लाॅक डाउन के जारी आदेश में स्पष्ट रूप से समस्त धार्मिक बंद रखने के आदेश देते हुए घरों से इबादत और प्रार्थना करने का उल्लेख किया गया है। सरकार की इसी आदेश की पालना में दरगाह कमेटी द्वारा जनहित में यह निर्णय लिया गया है। हम भी सभी लोगों से अपील करते है कि ईद के मौके पर घरों में ही रहे, बेवजह घरों से बाहर नहीं आए। बच्चों और बुर्जुगों के साथ कोरोना वायरस नौजवानों को भी अपनी चपेट में ले रहा है। हमारे लिए हर इन्सान की जिन्दगी बहुत अहम है। नहीं होगी ईदगाह, केसरगंज में भी नमाज कोविड महामारी के चलते इस साल केसरगंज स्थित ईदगाह पर भी ईद की नमाज अदा नहीं की जाएगी। यहां पर भी लोगों से अपील की जा रही है कि वह अपने घरों से ही इबादत करें। जन्नती दरवाजा खुलेगा ईद के अवसर पर दरगाह शरीफ का जन्नती दरवाजा खोला जाएगा और दोपहर में बंद कर दिया जाएगा। इस दौरान पासधारी खादिम ही खिदमत के लि प्रवेश कर सकेंगे। कोरोना महामारी के चलते दरगाह में आम जायरीन के प्रवेश व जियारत पर रोक हैं। हिन्दुस्थान समाचार/संतोष/ ईश्वर

अन्य खबरें

No stories found.