नैतिकता की दुहाई देने वाले खुद हैं सरकारें गिराने के षडयंत्रकारी : डॉ. पूनियां
नैतिकता की दुहाई देने वाले खुद हैं सरकारें गिराने के षडयंत्रकारी : डॉ. पूनियां
राजस्थान

नैतिकता की दुहाई देने वाले खुद हैं सरकारें गिराने के षडयंत्रकारी : डॉ. पूनियां

news

जयपुर, 23 जुलाई (हि.स.)। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां ने कहा कि मुख्यमंत्री की ओर से प्रधानमंत्री को लिखे गए पत्र से यह साफ हो गया है कि गहलोत सरकार अल्पमत में है। उन्होंने कहा कि जिस कांग्रेस ने आजादी के बाद से कई सरकारें गिराईं और कई सरकारों को गिराने का षडयंत्र रचा, वह अब नैतिकता की दुहाई दे रही है। जनता सब देख रही है और समझ रही है, वक्त आने पर वह इस सरकार को भी जवाब दे देगी। प्रदेशाध्यक्ष डॉ. पूनियां गुरुवार दोपहर पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में इस समय अराजकता और अस्थिरता की दोषी कांग्रेस पार्टी खुद है, लेकिन इसके आरोप भाजपा पर लगाए जा रहे हैं। खुद की लड़ाई में सत्ता खोने के डर ने सीएम को विचलित कर दिया है। मुख्यमंत्री की ओर से प्रधानमंत्री को लिखे गए पत्र की भाषा से स्पष्ट हो गया है कि मुख्यमंत्री ने अपने विधायकों का विश्वास खो दिया है। मुख्यमंत्री गहलोत भाजपा और पार्टी के नेताओं को बदनाम करने के लिए षडयंत्रपूर्ण आरोप लगा रहे हैं। सरकार और मंत्री बंधक बने हुए हैं, मुख्यमंत्री इस बात का जवाब नहीं दे पा रहे कि सरकार अभी और कितने दिन बाड़े में बंद रहेगी। उन्होंने कहा कि जिस दौर में पूरा प्रदेश कोरोना जैसी महामारी से जूझ रहा हैं, ऐसे वक्त में सरकार खुद अपने कुनबे को बिखरने से बचाने में लगी है। आमजनता को उसके हाल पर छोड़ दिया गया है। हर मोर्चे पर सरकार फेल साबित हो रही है। सरकार कोरोना को भूल होटल में इटेलियन डिश सीख रही है। उन्होंने कहा कि यह सरकार खुद के पाप छिपाने के लिए भाजपा पर आरोप मंढ रही है। सरकार ने सोच लिया है कि जब भी कुछ गलत करेंगे, आरोप भाजपा पर लगा देंगे। सरकार खुद बाड़ाबंदी में कैद हैं, जबकि विधायकों पर निगरानी के लिए उनके साथ पुलिस लगा दी गई है। पूनियां ने ट्वीट कर साधा निशाना भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ. पूनियां ने गुरुवार सुबह ट्वीट कर कांग्रेस सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने लिखा कि हमारी ललकार फिल्म के बाद अशोक गहलोत के कुछ मंत्री और विधायक बाड़े से निकले तो हैं पर पुलिस के पहरे में। बस देखना यह है कि लोकतंत्र की बात करने वाले बाड़े में बंद लोगों को लुगाई-टाबर और क्षेत्र की जनता से मिलने के लिए पूरा बाड़ा कब खोलेंगे। कब तक बाड़े में बंधक रहेगी सरकार। हिन्दुस्थान समाचार/रोहित/ ईश्वर-hindusthansamachar.in