रोडवेज की डेली व्हीकल रिपोर्ट में राजस्व व किमी का वास्तविक इन्द्राज करने के निर्देश

रोडवेज की डेली व्हीकल रिपोर्ट में राजस्व व किमी का वास्तविक इन्द्राज करने के निर्देश
रोडवेज की डेली व्हीकल रिपोर्ट में राजस्व व किमी का वास्तविक इन्द्राज करने के निर्देश

जयपुर, 24 जुलाई (हि.स.)। राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक नवीन जैन ने टिकिटींग परियोजना का संचालन कर रही फर्म व प्रबंधक (वित्त) को आगार स्तर पर बनने वाली डेली व्हीकल रिपोर्ट में वास्तविक किलोमीटर संचालन व राजस्व का इन्द्राज करने के निर्देश दिए हैं। राजस्थान रोडवेज के सीएमडी नवीन जैन ने आगार स्तर पर ईटीआईएम ऑपरेटर द्वारा की जा रही लापरवाही को दूर करने की आवश्यकता बताते हुए कहा कि आगार स्तर पर बनने वाली डीवीआर में ईटीआईएम ऑपरेटर द्वारा परिचालक से प्राप्त वे-बिल, डीएसए एवं अन्य मैन्युअल टिकट के डाटा को संशोधित कर एमआईएस में अपलोड करने की बजाय सीधे ही राजस्व जमा करा दिया जाता है, जिससे वास्तविक राजस्व व संचालित किलोमीटर का मिलान मुख्यालय स्तर पर नहीं हो पा रहा है। इस कारण मुख्यालय स्तर पर प्रभावी रूप से राजस्व अर्जन व संचालित किलोमीटर की प्रतिदिन समीक्षा व निर्णय लेने में दिक्कत महसूस की जा रही है। इसलिए ईटीआईएम ऑपरेटर राजस्व प्रभारी या प्रबंधक (वित्त) की देखरेख में एमआईएस में पूर्णरूपेण प्रक्रियानुसार कार्य सम्पादित करते हुए परिचालक द्वारा की गई गलत इन्द्राज को डीएसए की प्रति से मिलान कर संशोधन करने के उपरांत ही राजस्व जमा करवाना सुनिश्चित करें। उल्लेखनीय है कि आगार स्तर पर बनने वाली ईटीआईएम ऑपरेटर द्वारा परिचालक ड्यूटी ऑफ होने के बाद प्रस्तुत की गई ईटीआईएम से डाटा को सीधे ही अपलोड किया जा रहा है, जबकि परिचालक द्वारा प्रस्तुत वे-बिल, डीएसए एवं अन्य मैन्युअल टिकट आदि का मिलान कर अपलोड वास्तविक राजस्व व संचालित किलोमीटर का इन्द्राज करना चाहिए। इस कारण मुख्यालय को सही राजस्व अर्जन व संचालित किलोमीटर की जानकारी नहीं मिल पा रही थी। इस प्रकार की व्यवस्था स्थानीय स्तर पर ई-बिक्सकैश कम्पनी के प्रतिनिधि, सांख्यिकी तथा आईटी के कर्मचारी द्वारा एक साथ बैठकर करनी चाहिए। हिन्दुस्थान समाचार/रोहित/ ईश्वर-hindusthansamachar.in